Sonia Modi

19 महीनों में सबसे महंगा पेट्रोल, सोनिया का PM मोदी को पत्र- आत्मनिर्भर बनाना है तो ऐसा न करें

New Delhi: कोरोना वायरस काल में पेट्रो-डीजल (Petrol Deiesel Price Hike) के रेट बार-बार बढ़ने पर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) ने आपत्ति जताई है। उन्होंने इसके लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चिट्ठी (Sonia Gandhi letter to PM Modi) लिखी है।

पत्र (Sonia Gandhi letter to PM Modi) में कहा गया है कि अगर सरकार सच में लोगों को आत्मनिर्भर बनाना चाहती है तो उनके रास्ते में आर्थिक रुकावटें पैदा न करे। इसके साथ ही सरकार पर आरोप लगाया गया है कि अंतरराष्ट्रीय बाजार में तेल की कीमत रेकॉर्ड स्तर तक गिरने के बावजूद 6 सालों में लोगों को इसका लाभ कभी नहीं दिया गया।

पत्र में सोनिया लिखती हैं कि मार्च से अबतक अलग-अलग मौकों पर 10 बार पेट्रोल और डीजल के रेट बढ़ा दिए गए हैं जो कि किसी भी तरह से जायज नहीं हैं। सोनिया आगे लिखती हैं कि कोरोना के इस दौर में लोगों की आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं है, नौकरियां जा रही हैं ऐसे में यह वृद्धि बिल्कुल नहीं होनी चाहिए।

पत्र में लिखा गया है कि अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमत पिछले हफ्ते 9 प्रतिशत तक कम हुई फिर भी लोगों को इसका फायदा नहीं दिया गया। आगे लिखा है कि पिछले 6 सालों में कच्चे तेल की कीमत में रेकॉर्ड गिरावट के बावजूद एक्साइज ड्यूटी बढ़ाकर तेल के दाम बढ़ाए गए।

पेट्रोल 76.73 रुपये प्रति लीटर पहुंचा

सोनिया गांधी की बातें कुछ हद तक ठीक भी हैं। दुनियाभर की अर्थव्यवस्था पर कोरोना वायरस के असर से कच्चे तेल कीमतों में फिर से गिरावट हो रही है। इंडियन बास्केट क्रूड की कीमत 35 डॉलर प्रति बैरल के करीब आ गई है। तब भी घरेलू बाजार में पेट्रोल जहां 76.73 रुपये प्रति लीटर के भाव पर मिल रहा है तो डीजल 75.19 रुपये प्रति लीटर। यह 19 महीने का उच्चतम स्तर है।

इससे पहले 18 नवंबर 2018 को पेट्रोल का दाम 76.71 रुपये था जबकि 17 नवंबर 2018 को डीजल का दाम 75.16 रुपये था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *