कौन हैं बाबा सत्यनारायण मौर्य, जिन्होंने दिया था नारा- रामलला हम आएंगे, मंदिर वहीं बनाएंगे

New Delhi: Ram Mandir Bhumi Pujan Baba Satyanarayan Maurya: रामजन्मभूमि आंदोलन में गूंजने वाला सबसे अहम नारा रहा- रामलला हम आएंगे, मंदिर वहीं बनाएंगे।

यह नारा निकला था बजरंग दल के एक शिविर में। उज्जैन में 1986 में बजरंग दल के शिविर में पहली बार बाबा सत्यनारायण मौर्य (Baba Satyanarayan Maurya) ने यह नारा दिया जो बाद में हर रामभक्त की जुबान पर चढ़ गया।

पहली बार उज्जैन में गूंजा था नारा

नवभारत टाइम्स ऑनलाइन के मुताबिक, बाबा सत्यनारायण मौर्य ने बताया कि 1986 में वह मध्यप्रदेश के राजगढ़ से एम कॉम की पढ़ाई कर रहे थे। तब उज्जैन में बजरंग दल का शिविर लगा।

मौर्य ने बताया कि मैं भी उस शिविर में शामिल था। शिविर में शाम को सांस्कृतिक कार्यक्रम होते हैं। उसी कार्यक्रम में मैंने राम जन्मभूमि को लेकर यह नारा पहली बार दिया। रामलला हम आएंगे, मंदिर वहीं बनाएंगे।

रामजन्मभूमि आंदोलन का प्रतीक बन गया नारा

उन्होंने कहा कि इसके बाद यह नारा अलग-अलग जगह स्वयंसेवकों ने लगाया और फिर यह रामजन्मभूमि आंदोलन का एक अहम नारा बन गया।

55 साल के बाबा मौर्य ने कहा कि 6 दिसंबर, 1992 को अयोध्या के कार्यक्रम में सबसे पहले मंच संचालन उन्होंने ही किया। वह तब आंदोलन के प्रचार प्रमुख थे और पूरे अयोध्या में उन्होंने वॉल राइटिंग की जिसमें श्रीराम और हनुमान के चित्रों के साथ नारे भी शामिल थे। राम जन्मभूमि आंदोलन को लेकर उनके गाने की कैसेट भी तब खूब चली थी।

अयोध्या में लगेगी प्रदर्शनी

उन्होंने बताया कि अयोध्या में मंदिर परिसर में अयोध्या शोध संस्थान की तरफ से प्रदर्शनी लगाने की भी तैयारी है। पहले यह प्रदर्शनी 5 अगस्त को लगनी थी लेकिन सुरक्षा कारणों से अब बाद में लगेगी।

प्रदर्शनी चार भागों में होगी जिसका एक हिस्सा ‘जन्मभूमि का इतिहास’ विषय पर प्रदर्शनी बाबा मौर्य ही लगाएंगे। इसमें चित्रों और पेंटिंग के जरिए इतिहास बताया जाएगा। इसके अलावा राम की विश्व यात्रा, पुरातात्विक प्रमाण और राम मंदिर मॉडल की प्रदर्शनी लगेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *