अमरनाथ पहुंचे रक्षामंत्री राजनाथ सिंह.. बाबा बर्फानी के दर्शन कर लिया आशीर्वाद

New Delhi: देश के रक्षामंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh in Amarnath) शनिवार को अमरनाथ पहुंचे। यहां उन्होंने बाबा बर्फानी के दर्शन किए। यहां गुफा में मौजूद पुजारियों ने राजनाथ सिंह के हाथों भगवान भोलेनाथ का पूजन करवाया। इस दौरान अमरनाथ गुफा मंत्रों से गूंज उठी।

विधि विधान से पूजन करवाने के बाद पुजारियों ने उन्हें प्रसाद और आशीर्वाद भी दिया। दर्शन के बाद रक्षामंत्री ने अमरनाथ गुफा (Rajnath Singh in Amarnath) के इलाके की सुरक्षा इंतजाम भी परखे। राजनाथ के साथ सीडीएस बिपिन रावत (CDS Bipin Rawat) और सेनाध्यक्ष नरवणे भी मौजूद रहे।

राजनाथ सिंह इन दिनों जम्मू-कश्मीर (Rajnath Singh in Jammu Kashmir) के दौरे पर हैं। शनिवार की सुबह वह अमरनाथ की गुफा (Rajnath Singh in Amarnath) पहुंचा। यहां उन्होंने भगवान के दर्शन किए।

पुजारियों ने राजनाथ सिंह (Rajnath Singh in Amarnath) को लाल रंग की चुनरी उढ़ाकर उन्हें आशीर्वाद दिया। मंत्रों की तेज ध्वनि के साथ गुफा गूंज उठी। भगवान का आशीर्वाद लेने के बाद राजनाथ सिंह ने आसपास इलाके का निरीक्षण कर सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया। सेना के अमरनाथ में आतंकी हमले के इनपुट मिले हैं।

सुरक्षा का जायजा लेने पहुंचे राजनाथ

इससे पहले पह शुक्रवार को लद्दाख पहुंचे थे। यहां उन्होंने एलएसी पर तैनात सेना के जवानों का हौसला बढ़ाया था और रायफल हाथ में लेकर उसके बारे में जानकारी भी ली थी।

रक्षामंत्री ने शुक्रवार को यहां एक उच्च स्तरीय बैठक में जम्मू कश्मीर की संपूर्ण सुरक्षा स्थिति की समीक्षा की। पूर्वी लद्दाख के दौरे के बाद वरिष्ठ सुरक्षा अधिकारियों ने रक्षा मंत्री को पाकिस्तान से लगती नियंत्रण रेखा की स्थिति एवं आतंकवाद निरोधक अभियानों के बारे में बताया।

अमरनाथ पर आतंकी हमले का अलर्ट

आपको बता दें कि भारतीय सेना (Indian Army) को कुछ ऐसे इनपुट्स मिले हैं, जिनसे यह पता चलता है कि 21 जुलाई से शुरू होने वाली अमरनाथ यात्रा (Amarnath Yatra) पर आतंकी हमले (terrorist attack) की योजना बनाई जा रही रही है।

आतंकवादी राष्ट्रीय राजमार्ग-44 के आस-पास अमरनाथ यात्रा को निशाना बनाने की योजना बना रहे हैं। 21 जुलाई से शुरू होने वाली तीर्थयात्रा की सफलता के लिए आतंकियों की हर योजना को विफल करने के लिए इलाके में सुरक्षा के इंतजाम सख्त कर दिए गए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *