राहुल गांधी का नरेंद्र मोदी पर निशाना- चीन के आगे झुके कायर प्रधानमंत्री, सेना के बलिदान पर थूका

Webvarta Desk: कांग्रेस के पूर्व अध्‍यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने भारत-चीन सीमा पर डिसइंगेजमेंट (India China Border Disengagement) को लेकर मोदी सरकार (Modi Govt) पर निशाना साधा है।

राहुल (Rahul Gandhi) ने कहा कि पैंगोंग झील इलाके में हमारे सैनिक फिंगर 3 पर तैनात रहेंगे, जबकि हमारा इलाका फिंगर 4 है। उन्‍होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) से पूछा कि हमने अपना इलाका चीनियों को क्‍यों सौंप दिया है।

कांग्रेस नेता (Rahul Gandhi) ने कहा, “कल रक्षा मंत्री ने पूर्वी लद्दाख में हालात पर एक बयान दिया। अब, हमें पता चलता है कि हमारे सैनिक फिंगर 3 पर तैनात रहेंगे। फिंगर 4 हमारा इलाका है। अब, हम फिंगर 4 से फिंगर 3 पर आ गए हैं। मिस्‍टर मोदी ने हमारा इलाका चीनियों को क्‍यों दे दिया है?”

राहुल (Rahul Gandhi) ने कहा, “हिंदुस्‍तान की सरकार की नेगोशिएटिंग पोजिशन थी कि अप्रैल 2020 में जो हालात थे, वही बहाल हो। उसको सरकार भूल गई। चीन के सामने नरेंद्र मोदी ने अपना सिर झुका दिया। माथा टेक दिया। हमारी जमीन फिंगर 4 तक है। नरेंद्र मोदी ने फिंगर 3 से फिंगर 4 की जमीन चीन को पकड़ा दी।”

राहुल ने कहा, ‘प्रधानमंत्री एक कायर हैं जो चीन के सामने खड़े नहीं हो सकते। यही तथ्‍य है। वह सेना के बलिदान पर थूक रहे हैं, वो यही कर रहे हैं। वह सेना के त्‍याग का अपमान कर रहे हैं। भारत में किसी को ऐसा करने की इजाजत नहीं होनी चाहिए।’

डिसइंगेजमेंट के बदले भारत को क्‍या मिला? : राहुल

राहुल ने बॉर्डर से डिसइंगेजमेंट पर सवाल उठाते हुए कहा कि इससे भारत को कुछ हासिल नहीं हुआ। उन्‍होंने पूछा कि मजबूत स्थिति में पहुंच जाने के बाद सेना को पीछे हटने के लिए क्‍यों कहा गया है।

राहुल ने कहा, “कड़ी मेहनत के बाद भारतीय सेना ने जो कुछ हासिल किया, अब उनसे क्‍यों पीछे हटने को कहा गया है? इसके बदले भारत को क्‍या मिला है? सबसे जरूरी बात ये है कि देपसांग प्‍लेन्‍स में चीनी पीछे क्‍यों नहीं हटे हैं? वे गोगरा और हॉट स्प्रिंग्‍स से पीछे क्‍यों नहीं गए हैं? हिंदुस्‍तान की पवित्र जमीन नरेंद्र मोदी ने चीन को पकड़ाई है। ये सच्‍चाई है।”

पीएम को देना चाहिए था बयान

राहुल ने कहा कि “कल रक्षा मंत्री आकर एक छोटा भाषण देते हैं, प्रधानमंत्री ने आकर ऐसा क्‍यों नहीं कहा। उन्‍होंने रक्षा मंत्री से बयान देने को क्‍यों कहा। प्रधानमंत्री को कहना चाहिए कि मैंने भारत की जमीन चीन को दे दी है।” राहुल ने प्रेस कॉन्‍फ्रेंस के आखिर में कहा, “देश की जमीन की रक्षा करना प्रधानमंत्री की जिम्‍मेदारी है। वो ऐसा कैसे करते हैं, ये उनकी समस्‍या है, मेरी नहीं।”