अवमानना केस: ट्विटरबाज बनने के चक्कर में पड़ गए लेने के देने.. इन ट्वीट्स में फंस गए प्रशांत भूषण

New Delhi: वरिष्‍ठ वकील प्रशांत भूषण (Prashant Bhushan) के खिलाफ अवमानना मामले पर आज सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई है। शीर्ष अदालत ने भूषण के कुछ ट्वीट्स का स्‍वत: संज्ञान लेते हुए अवमानना की कार्यवाही शुरू की है। पूरे केस में ट्विटर को भी पार्टी बनाया गया है।

प्रशांत भूषण (Prashant Bhushan) के न्‍यायपालिका पर कुछ ट्वीट्स को लेकर उनके खिलाफ अवमानना की प्रक्रिया शुरू की गई है। यह साफ नहीं है कि वे ट्वीट्स कौन से हैं मगर हाल के दिनों में वह अदालत के फैसलों पर तल्‍ख टिप्‍पणियां करते रहे हैं।

कुछेक ट्वीट्स में तो उन्‍होंने बिना नाम लिए जजों तका जिक्र भी किया था। आइए देखते हैं वे कौन-कौन से ट्वीट हैं जिनमें प्रशांत भूषण (Prashant Bhushan) अदालत पर जिक्र करते नजर आए थे। ये ट्वीट्स 24 मई से 29 जुलाई के बीच किए गए।

‘जुडिशल मर्डर’ जैसे शब्‍दों का किया है यूज

जब सुप्रीम कोर्ट जजों पर ही उठाए सवाल

ट्वीट्स में बहुत कुछ कह चुके हैं प्रशांत भूषण

सीजेआई एसए बोबडे पर भी कटाक्ष कर चुके जूनियर भूषण

‘लोकतंत्र की हत्‍या में SC की भूमिका’ वाला विवादित ट्वीट

कहीं पर निगाहें, कहीं पर निशाना

SC पर किया था सीधा हमला

संस्‍थागत अन्‍याय को लेकर जजों पर प्रशांत भूषण ने साधा था निशाना

प्रवासी मजदूरों पर ‘SC के नींद में होने’ का मढ़ा आरोप

पिछले 5 साल SC का सबसे काला अध्‍याय : भूषण

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *