पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की हालत में कोई सुधार नहीं, अस्पताल ने जारी किया मेडिकल बुलेटिन

नई दिल्ली। भारत के पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की हालत में अभी भी कोई सुधार नहीं हुआ है। उन्हें अभी भी वेंटिलेटर सपोर्ट पर हैं। आर्मी के रिसर्च एंड रेफरल अस्पताल ने 14 अगस्त की सुबह बुलेटिन जारी कर पूर्व राष्ट्रपति की सेहत के बारे में जानकारी दी है।

अस्पताल ने बुलेटिन में कहा है, “माननीय श्री प्रणब मुखर्जी की स्थिति आज सुबह (14 अगस्त 2020) तक अपरिवर्तित है। वह गहन देखभाल में है और वेंटिलेटर सपोर्ट पर हैं। वर्तमान में उनके महत्वपूर्ण पैरामीटर स्थिर हैं।”

ब्रेन सर्जरी के बाद कोमा में गए

पिछले रविवार को पूर्व राष्ट्रपति दिल्ली के राजाजी मार्ग पर स्थित अपने सरकारी आवास में गिर गए थे। इससे उनके ब्रेन में ब्लॉ क्लॉटिंग हो गई थी। इसके बाद उन्हें सेना के आरआर हॉस्पिटल में लाया गया था। वहां उनके मस्तिष्क की सर्जरी हुई लेकिन उसके बाद से उनकी स्थिति में कोई सुधार नहीं हुआ और वो कोमा में चले गए।

बेटे से कटहल लाने को कहा था

पूर्व राष्ट्रपति के पुत्र अभिजीत मुखर्जी ने बताया कि वेंटिलेटर पर जाने से एक हफ्ते से भी पहले उन्होंने बुलाकर गांव से कटहल लाने को कहा था। इसके बाद अभिजीत पश्चिम बंगाल के बीरभूम जिले के अपने पैतृक गांव मिराती पहुंचे और वहां से 25 किलो का एक कटहल लेकर आए थे।

तीन अगस्त को अभिजीत ने कोलकाता से ट्रेन पकड़ी थी। अभिजीत के मुताबिक, प्रणब दा और उन्हें रेल की यात्रा अच्छी लगती है। 60 साल के अभिजीत ने बताया कि कटहल खाने के बाद भी प्रणब मुखर्जी का शुगर लेवल नहीं बढ़ा था।

प्रणब मुखर्जी मनमोहन सिंह के पहले कार्यकाल में साल 2004 से 2006 तक रक्षा मंत्री थे। तभी से उनका मेडिकल रिकॉर्ड आर्मी डॉक्टर मेंटेंन कर रहे हैं। उनके बेटे ने ने बताया कि इसी वजह से उन्हें आर्मी के रिसर्च एंड रेफरल हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है। अभिजीत ने बताया कि अस्पताल में भर्ती किए जाने के बाद से वह अभी तक चार बार ही उन्हें देख पाए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *