PM नरेंद्र मोदी ने मेडल विजेता पैरालिंपिक खिलाड़ियों को किया सम्मानित

नई दिल्ली, 09 सितंबर (वेब वार्ता)। PM नरेंद्र मोदी ने टोक्यो पैरालंपिक के मेडल विजेताओं से आज अपने निवास पर मुलाकात की। भारत ने इस साल टोक्यो में इतिहास रचते हुए सबसे ज्यादा 19 मेडल जीते हैं, जिनमें पांच गोल्ड मेडल भी शामिल हैं।

प्रधानमंत्री ने बुधवार को टोक्यो में जीतने वाले पैरालिंपिक खिलाड़ियों से अपने घर पर मुलाकात की। उन्होंने तीन पैरालिंपिक में मेडल विजेता जेवलिन थ्रोअर देवेंद्र झाझरिया को बधाई दी। झाझरिया ने 2002 मास्को पैरालिंपिक और 2016 रियो ओलिंपिक में जेवलिन में गोल्ड मेडल जीता था। टोक्यो में उन्होंने सिल्वर मेडल जीता। झाझरिया 3 पैरालिंपिक्स या ओलिंपिक में मेडल जीतने वाले पहले भारतीय खिलाड़ी हैं। ओलिंपिक में बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधु और कुश्ती में पहलवान सुशील कुमार दो बार मेडल जीत चुके हैं।

कृष्णा नागर सहित भारत से सात बैडमिंटन खिलाड़ियों ने भाग लिया और दो गोल्ड सहित चार मेडल जीते। कृष्णा नागर ने एसएल-6 में गोल्ड मेडल जीता। एसएल-6 में वे एथलीट शामिल होते हैं, जिनकी हाईट में बढ़ाेतरी नहीं होती है। इनके अलावा एसएल-4 में नोएडा के DM सुहास ने सिल्वर मेडल जीता, जबकि एसएल-3 में प्रमोद भगत ने गोल्ड और मनोज सरकार ने सिल्वर मेडल जीता। प्रधानमंत्री से गुरूवार को मुलाकात में कृष्णा नागर ने अपने अनुभव शेयर किए।

टोक्यो में हुए पैरालिंपिक में पलक कोहली ने एसएल-3 और एसयू-5 कैटेगरी के बैडमिंटन के मिक्स्ड इवेंट में प्रमोद कुमार के साथ सेमीफाइनल तक का सफर तय किया, हालांकि वे मेडल से चूक गईं। ब्रॉन्ज मेडल के हुए मैच में उनकी जोड़ी को जापान के दाइसुके फुजहारा और अकिको सुगिनो की जोड़ी से हार का सामना करना पड़ा। पलक ने प्रधामंत्री से मुलाकात में अपने अब तक के सफर के अनुभवों को साझा किया।