Fit India Dialogue: PM मोदी ने फिटनेस को लेकर विराट, झाझरिया समेत कई दिग्गत हस्तियों से की बात

New Delhi: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने गुरुवार को फिट इंडिया डायलॉग (Fit India Dialogue) में टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) और पैरालिंपियन देवेंद्र झाझरिया (Devendra Jhajharia) से बात की।

इस ऑनलाइन कॉन्फ्रेंस (Fit India Dialogue) में मॉडल, रनर और ऐक्टर मिलिंद सोमन, न्यूट्रीशनिस्ट रुजुता दिवेकर ने भी हिस्सा लिया। सभी ने फिटनेस को लेकर अपनी यात्रा और प्रधानमंत्री (PM Narendra Modi) के स्वस्थ जीवन के गुणों पर अपने विचार रखे और कुछ सुझाव भी दिए।

इस दौरान सबसे पहले देवेंद्र झाझरिया (Devendra Jhajharia) से पीएम ने बातचीत की। देवेंद्र ने बताया कि कैसे उन्होंने अपने कंधे की चोट को एक्सरसाइज से ठीक किया। देवेंद्र ने कहा, ‘जब मुझे कंधे में चोट लगी तो मैंने सोच लिया कि इससे हारना नहीं है, इसे ठीक करना है।’ उन्होंने साथ ही बताया कि कंधे के लिए वह कई तरह की एक्सरसाइज करते हैं।

उम्र को लेकर मिलिंद से पीएम का मजाक

पीएम मोदी ने ऐक्टर, मॉडल और रनर मिलिंद सोमन से उनकी उम्र को लेकर मजाक किया। पीएम मोदी ने कहा, ‘मिलिंद जी, मैं आपसे पूछना चाहता हूं कि जो आपकी उम्र ऑनलाइन दिखाई जाती है, क्या सही में है?’

इस पर दोनों हंसने लगे, फिर मिलिंद ने कहा, ‘मुझसे कई लोग पूछते हैं कि आपकी उम्र सही में 55 की है लेकिन मैं अपने पूर्वजों को देखता हूं कि कैसे वो 100-100 किमी चलते थे। हम एक इवेंट करते हैं, जिसमें महिलाएं 3 किमी से शुरुआत करती हैं। मैं फिट इंडिया मूवमेंट की तारीफ करता हूं।’

मिलिंद की मां को भी सलाम, पीएम बोले- 4 बार देखा वीडियो

मिलिंद सोमन की मां का एक वीडियो हाल में सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था, जिसमें वह कई पुशअप करती नजर आ रही थीं। इस पर पीएम मोदी ने कहा, ‘मैंने 4 बार उस वीडियो को देखा। मेरा उनको विशेष प्रणाम।’ मिलिंद ने इस पर कहा कि हम दोनों ही एक दूसरे को प्रोत्साहित करते हैं। उन्होंने साथ ही बताया कि वह बिना जूतों के ही रनिंग करते हैं।

पीएम की मां पूछती हैं- हल्दी लेते हैं या नहीं

पीएम मोदी ने न्यूट्रिशनिस्ट रुजुता दिवेकर से बातचीत के दौरान बताया कि वह कोरोना वायरस के इस मुश्किल दौर में अपनी मां से सप्ताह में 2-3 बार बात करने की कोशिश करते हैं। उन्होंने कहा, ‘जब भी मैं अपनी मां को फोन करता हूं तो वह पूछती हैं कि हल्दी लेते हो या नहीं।’

योग की पंचमुखी साधना

पीएम मोदी ने स्वामी शिवध्यानम सरस्वती से भी बातचीत की। इस दौरान स्वामी सरस्वती ने कहा कि उनकी कोशिश योग को कोने-कोने तक पहुंचाने की है। उन्होंने साथ ही अपने गुरुजनों को भी याद किया। पीएम मोदी ने आगे कहा, ‘जिस तरह से समय बदला है, जीवन-शैली बदली है, उस दौर में स्वामी जी ने योग को लेकर काफी काम किया।’ इस पर स्वामी सरस्वती ने कहा, ‘योग करने की बात आती है तो लोग कहते हैं कि समय नहीं है। इसके लिए हमारे गुरुजन ने पंचमुखी साधना को लेकर काम किया।’

पीएम मोदी ने पूछा विराट का फिटनेस रूटीन

पीएम मोदी ने फिटनेस रूटीन के बारे में पूछा तो विराट ने कहा, ‘मुझे एक बड़ा बदलाव देखने को मिला। जिस पीढ़ी में हम खेलना शुरू किए, उस दौर में फिटनेस को लेकर काफी चीजें बदलीं। हमें खुद से महसूस होना चाहिए कि क्या बदलना है। पहले खेल को अच्छा करने के लिए फिटनेस सेशन शुरू किए लेकिन अब प्रैक्टिस मिस हो जाए, बुरा नहीं लगता लेकिन फिटनेस सेशन मिस हो जाए तो बहुत बुरा लगता है।’

‘दिल्ली के छोले भटूरे ना खाना दुखता होगा’

विराट से पीएम मोदी ने हंसते हुए पूछा कि दिल्ली के छोले-भटूरे ना खाना दुखता होगा। विराट ने कहा, ‘मैंने अपनी नानी को देखा जो घर का खाना खाती थीं और स्वस्थ रहती थीं। इसके लिए पहले मैं जब प्रैक्टिस करता था, बाहर का काफी खाना खाता था। अब लेकिन काफी चीजें बदली हैं। मुझे बाद में लगा कि फिटनेस को लेकर काम करने की जरूरत है क्योंकि अगर आप फिट नहीं होंगे तो काफी कुछ चीजें नहीं कर पाएंगे।’

पीएम ने पूछा, यो-यो टेस्ट कप्तान को करना पड़ता है?

विराट ने कहा, ‘वह एक फिटनेस लेवल का टेस्ट होता है। मैं सबसे पहले मैं ही भागता हूं और यह तय है कि अगर उस टेस्ट में मैं भी फेल हो जाउंगा तो टीम से बाहर होना पड़ेगा। एक टेस्ट गेंदबाज के लिए फिट रहना काफी जरूरी होता है। पहले हमारी फिटनेस अच्छी नहीं थी लेकिन आज की डेट में हमारी टीम काफी फिट है।’ पीएम मोदी ने साथ ही विराट-अनुष्का के घर आने वाले नन्हे मेहमान के लिए भी शुभकामनाएं दीं।

जम्मू-कश्मीर की फुटबॉलर अफशान बोलीं- धोनी से सीखा काफी कुछ

जम्मू कश्मीर की महिला फुटबॉलर अफशान आशिक ने भी इस कॉन्फ्रेंस में हिस्सा लिया। उन्होंने बताया कि वह काफी मेहनत करती हैं और कोशिश करती हैं कि इसके लिए जो भी जरूरी एक्सरसाइज हैं, वे करें। उन्होंने कहा, ‘मैंने महेंद्र सिंह धोनी से काफी कुछ सीखा, वह बेहद शांत तरीके से काम करते हैं। मैं मानती हूं कि जैसे वह शांत और संयम से काम करते हैं, मैं भी मानती हूं कि ऐसे ही सभी को काम करनी चाहिए।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *