31.1 C
New Delhi
Sunday, October 2, 2022

PM मोदी कल बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे का करेंगे उद्घाटन, क्षेत्र का होगा विकास, रोजगार के अवसर बढ़ेंगे

केंद्र में सत्‍ता संभालने के बाद से ही नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) सरकार का फोकस मुख्‍य रूप से कनेक्टिविटी और इन्‍फ्रास्‍ट्रक्‍चर पर रहा है. कनेक्टिविटी पर इस फोकस का अंदाजा रुपये के बजटीय आवंटन से भी लगाया जा सकता है. वर्ष 2022-23 के बजट में रोड ट्रांसपोर्ट और हाइवे मंत्रालय के लिए 1.99 लाख करोड़ रुपये का आवंटन किया गया है जो अब तक का सबसे अधिक है. वर्ष 2013-14 के 30,300 करोड़ रुपये की तुलना में यह 550% से अधिक की छलांग है.

 

पिछले सात वर्ष की बात करें तो देश में एनएच (नेशनल हाईवे) की लंबा 91,287 किमी (अप्रैल 2014 तक) से बढ़कर करीब 1,41,000 किमी (31 दिसंबर 2021 तक) तक पहुंच गई है. वर्ष 2020-21 में एनएच के निर्माण की गति 12 KM प्रतिदिन से बढ़कर 37 KM प्रतिदिन हो गई है. कनेक्टिविटी को खास तरजीह देने संबंधी इसी अभियान के तहत पीएम नरेंद्र मोदी कल शनिवार को यूपी के जालौन जिले उरई तहसील के कैथेरी गांव में बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे (Bundelkhand Expressway) का उद्घाटन करेंगे.

बता दें, प्रधानमंत्री ने 29 फरवरी, 2020 को बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे का शिलान्यास किया था. इस एक्सप्रेसवे का काम 28 महीने के भीतर पूरा कर लिया गया है और अब इसका उद्घाटन प्रधानमंत्री द्वारा किया जाएगा. एक आधिकारिक बयान के अनुसार,इस एक्सप्रेसवे का काम 28 महीने के भीतर पूरा किया गया है .बयान के मुताबिक कुल 296 किलोमीटर लंबे इस चार लेन वाले एक्सप्रेसवे का निर्माण उत्तर प्रदेश एक्सप्रेसवेज औद्योगिक विकास प्राधिकरण (यूपीईआईडीए) के तत्वावधान में लगभग 14,850 करोड़ रुपये की लागत से किया गया है और आगे चलकर इसे छह लेन तक भी विस्तारित किया जा सकता है. यह एक्सप्रेसवे चित्रकूट जिले में भरतकूप के पास गोंडा गांव में राष्ट्रीय राजमार्ग-35 से लेकर इटावा जिले के कुदरैल गांव तक फैला हुआ है, जहां यह आगरा-लखनऊ एक्सप्रेसवे के साथ मिल जाता है. यह एक्सप्रेसवे सात जिलों यानी चित्रकूट, बांदा, महोबा, हमीरपुर, जालौन, औरैया और इटावा से होकर गुजरता है.

माना जा रहा है कि बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे इस इलाके की कनेक्टिविटी में सुधार के साथ-साथ आर्थिक विकास को भी बढ़ावा देगा, क्योंकि इससे स्थानीय लोगों के लिए रोजगार के ढेरों अवसर सृजित होंगे. बांदा और जालौन जिलों में इस एक्सप्रेसवे के समीप औद्योगिक कॉरिडोर बनाने का काम पहले ही शुरू हो चुका है. जालौन के पुलिस अधीक्षक रवि कुमार ने बताया कि प्रधानमंत्री के दौरे के मद्देनजर सुरक्षाकर्मियों द्वारा जिला मुख्यालय उरई के सभी होटल एवं रेस्टोरेंट पर सघन जांच पड़ताल अभियान चलाया जा रहा है .

उन्होंने बताया कि लोकार्पण स्थल पर होने वाली जनसभा में सरकारी योजनाओं के लाभार्थियों को पहुंचने की सुविधा उपलब्ध करवाई जा रही है . इसके लिए ग्राम विकास अधिकारी, ग्राम प्रधान से लेकर अन्य उच्च अधिकारी भी तैयारी में लगे हैं . उनका कहना था कि लाभार्थियों को जनसभा स्थल पहुंचने में दिक्कत ना हो इस को ध्यान में रखकर पूरे जनपद की नगर पालिका एवं नगर पंचायत मुख्यालय पर भी रोडवेज की बसें उपलब्ध करवाई गई है.

 

इसके अलावा ग्रामीण अंचल से लाभार्थियों को सभा स्थल पर ले जाने के लिए विकासखंड स्थल एवं ग्राम स्तर पर भी बसें पहुंचाई जा रही हैं . उन्होंने बताया कि लोकार्पण में प्रधानमंत्री के स्वागत में बुंदेलखंड के बुंदेली कलाकारों को लगातार अपनी कला का प्रदर्शन करने का प्रशिक्षण भी दिया जा रहा है .

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

10,370FansLike
10,000FollowersFollow
1,124FollowersFollow

Latest Articles