अयोध्या में PM मोदी का कार्यक्रम तय, 5 अगस्त को साढ़े 11 बजे पहुंचेंगे और भाषण भी देंगे पीएम

New Delhi: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 5 अगस्त को अयोध्या के राम मंदिर (PM Modi Ayodhya Visit Program) का भूमि पूजन करने के साथ इसके निर्माण का शुभारंभ करेंगे। पीएम का कार्यक्रम तय हो गया है। वह दिन में साढ़े 11 बजे यहां पहुंचेंगे तथा लोगों को संबोधित भी करेंगे।

न्यूज चैनल की रिपोर्ट के अनुसार पीएम मोदी (PM Modi Ayodhya Visit Program) 5 अगस्त को साढ़े 11 बजे पहुंच जाएंगे। वह साकेत विश्वविद्यालय से रामजन्मभूमि की ओर जाएंगे। इस दौरान प्रधानमंत्री हनुमानगढ़ी भी जाएंगे। प्राप्त जानकारी के अनुसार कार्यक्रम में 200 गेस्ट शामिल होंगे। इसमें विशिष्ट अतिथियों के साथ ही साधु-संत और अधिकारियों के भी शामिल रहने की जानकारी है।

रिपोर्ट्स के मुताबिक प्रधानमंत्री मोदी अयोध्या में राम मंदिर प्रवास के दौरान भाषण भी देंगे। उनका कार्यक्रम दो घंटे का होगा। भूमि पूजन का समय 12 बजकर 15 मिनट पर 32 सेकेंड का रहेगा। इसी दौरान पीएम राम मंदिर की आधारशिला भी रखेंगे।

श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महामंत्री चंपत राय ने कहा कि भूमि पूजन के दिन, 5 अगस्‍त को दुनियाभर में फैले सभी राम भक्‍त और भारत के संत-महात्‍मा जहां हैं, वहीं पर पूजन करें। उन्‍होंने कहा, “सभी श्रद्धालु संभव हो तो परिवार के साथ या नजदीक के किसी मंदिर में 5 अगस्‍त को सुबह 11.30 बजे से दोपहर 12.30 बजे तक भजन-पूजा करें।” उन्‍होंने बड़े ऑडिटोरियम में भूमि पूजन का लाइव टेलीकास्‍ट दिखाने की भी अपील की है।

5 अगस्‍त से ही बनना शुरू हो जाएगा राम मंदिर

जानकारी के मुताबिक अब जो मंदिर बनवाएंगे, उसमें एक ‘टाइम कैप्सूल’ बनाकर के 2000 फीट नीचे डाला जाएगा। ताकि भविष्य में जब कोई भी इतिहास देखना चाहेगा तो रामजन्मभूमि के संघर्ष के इतिहास के साथ तथ्य भी निकल कर आएगा ताकि कोई भी विवाद यहां उत्पन्न न हो सके।

प्रधानमंत्री मोदी जब 5 अगस्त को राम मंदिर की आधारशिला रखेंगे उसी के बाद से मंदिर का निर्माण शुरू हो जाएगा। एल एंड टी कंपनी नींव की खुदाई शुरू कर देगी। 200 मीटर की खुदाई के मिट्टी के सैंपल की रिपोर्ट अभी नहीं आई है। उसी के मुताबिक नींव की कितनी गहरी खुदाई होगी, यह तय होगा।

अयोध्या के सुंदरीकरण, विकास की तैयारी जोरों पर

राम मंदिर के निर्माण के साथ ही धर्मनगरी अयोध्या (Ayodhya) के ऐतिहासिक स्वरूप को पुनर्जीवित करने की तैयारियां शुरू हो गई हैं। 5 अगस्त को प्रस्तावित राम मंदिर के भूमि पूजन समारोह से पहले सरकार ने अयोध्या के सुंदरीकरण और विकास का पूरा खाका तैयार किया है। इस क्रम में अयोध्या बाईपास (Ayodhya Bypass) से लेकर शहर तक तमाम बड़े काम किए जाने हैं। इस प्लान में बाईपास के पास भगवान हनुमान की प्रतिमा लगाने, छोटे फ्लावर गार्डन बनाने और फव्वारे लगाने का प्लान तैयार किया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *