Monday, January 25, 2021
Home > National Varta > किसान आंदोलन के बीच गुरुद्वारा रकाबगंज साहिब में PM मोदी ने टेका मत्था, ये है कारण

किसान आंदोलन के बीच गुरुद्वारा रकाबगंज साहिब में PM मोदी ने टेका मत्था, ये है कारण

Webvarta Desk: PM Modi at Rakab Ganj Sahib: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) रविवार सुबह अचानक दिल्‍ली स्थित गुरुद्वारा रकाबगंज साहिब (Gurudwara Rakab Ganj Sahib) पहुंच गए। उन्‍होंने श्री गुरु तेग बहादुर साहिब जी के सर्वोच्‍च बलिदान के लिए अपनी श्रद्धांजलि अर्पित की।

PM मोदी (PM Narendra Modi) ने कुछ तस्‍वीरें ट्वीट की हैं जिनमें वह गुरुद्वारा (Gurudwara Rakab Ganj Sahib) परिसर में नजर आ रहे हैं। पीला कुर्ता पहने मोदी ने कहा कि श्री गुरु तेग बहादुर साहिब जी की दयालुता से बेहद प्रेरणा लेते हैं। उन्‍होंने कहा कि वे यहां आकर खुद को बेहद सौभाग्‍यशाली महसूस कर रहे हैं। मोदी के रकाबगंज गुरुद्वारा जाने की कुछ तस्‍वीरें देखिए।

अचानक बना पीएम मोदी का कार्यक्रम

मोदी के रकाबगंज गुरुद्वारा जाने का कोई कार्यक्रम नहीं था। वह रविवार सुबह अचानक ही यहां पहुंच गए।

‘शहीदी दिवस’ पर श्रद्धांजलि नहीं दे पाए थे मोदी

श्री गुरु तेग बहादुर साहिब जी की पुण्‍यतिथि शनिवार को थी लेकिन मोदी तब यहां नहीं आ पाए थे। रकाबगंज गुरुद्वारे में ही सिखों के नौवें गुरु, श्री गुरु तेग बहादुर साहिब जी के पार्थिव शरीर का अंतिम संस्‍कार हुआ था।

किसान आंदोलन के बीच पीएम मोदी का यहां आना अहम

दिल्‍ली में सिखों के लिए सबसे पवित्र जगहों से, रकाबगंज गुरुद्वारा एक है। पीएम मोदी का यहां आना काफी महत्‍वपूर्ण है क्‍योंकि कुछ किलोमीटर दूर दिल्‍ली की सीमाओं पर किसान, ,खासतौर से पंजाब के, नए कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन कर रहे हैं।

मोदी बार-बार कर रहे समझाने की कोशिश

पीएम कई मंचों से किसानों को नए कानूनों के फायदे गिनाते रहे हैं। जिन आपत्तियों को किसान संगठनों ने उठाया है, वे उनपर भी बोलते रहे हैं। मोदी ने किसानों को भरोसा दिया है कि एमएसपी खत्‍म नहीं होगा, न ही मंडियां खत्‍म की जाएंगी।

रकाबगंज गुरुद्वारे में पीएम मोदी की अरदास

प्रधानमंत्री करीब 15 मिनट तक गुरुद्वारे में रहे। रायसीना हिल्‍स से पीछे स्थित इस गुरुद्वारे में पिछले 25 दिन से ‘सिख समागम’ चल रहा है।

मोदी के दौरे की कुछ और झलकियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *