PAK की नापाक चाल, भारतीय यूजर्स का डेटा हैक करने के लिए बनाया फेक आरोग्य सेतु ऐप, ऐसे रहें सतर्क

New Delhi: भारत समेत दुनिया भर के कई देश मौजूदा समय में कोविड 19 के संक्रमण से जूझ रहे हैं। मगर पाकिस्तान भारत की जासूसी करने में जुटा हुआ है। पाकिस्तान (Pakistan Fake Arogya Setu App) ने भारत की जासूसी के लिए एक नई साजिश रची है।

पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी ISI ने भारतीयों की जासूसी के लिए फेक आरोग्य सेतु ऐप (Fake Arogya Setu App) बनाया है। इस ऐप को अप्रैल 2020 में डिवेलप किया गया था। अब इस फर्जी ऐप का नया वर्जन लॉन्च किया गया है।

ISI की मदद से हैकर्स इस ऐप को भारतीय ब्यूरोक्रेसी और डिफेंस से जुड़े संस्थानों तक पहुंचाने की फिराक में लगे हैं। इसके अलावा आम भारतीय नागरिकों को भी पाकिस्तानी हैकर्स इस ऐप के जरिए निशाना बना रहे हैं।

भारत में बेहद पॉप्युलर है आरोग्य सेतु ऐप

भारत सरकार ने कोरोना वायरस संक्रमण को नियंत्रित करने के लिए आरोग्य सेतु ऐप (Arogya Setu) लॉन्च किया था, जिसे भारत में काफी अच्छा रिस्पॉन्स मिला। देश में करोड़ों की संख्या में लोग इस ऐप का इस्तेमाल करते हैं।

सरकारी कर्मचारियों के लिए अनिवार्य है आरोग्य सेतु ऐप

आरोग्य सेतु ऐप को भारत सरकार ने सरकारी कर्मचारियों के लिए अनिवार्य किया है। इसी का फायदा उठाकर भारत की जासूसी करने के मंसूबे से पाकिस्तानी हैकर्स ने नकली आरोग्य सेतु ऐप तैयार किया है।

पाक हैकर्स के निशाने पर भारतीय सेना और ब्यूरोक्रेट्स

पाकिस्तान समर्थित हैकर्स भारत के ब्यूरोक्रेट्स और सेना से जुड़े लोगों को इस फर्जी ऐप के जरिए निशाना बनाना चाहते हैं। इसके लिए हैकर इस फर्जी ऐप के लिंक को इन विभागों में सर्कुलेट करने की कोशिश कर रहे हैं।

‘चुराया जा सकता है देश का संवेदनशील डेटा’

महाराष्ट्र साइबर डिपार्टमेंट के IG यशस्वी यादव ने कहा, ‘महाराष्ट्र साइबर डिपार्टमेंट को बहुत खतरनाक मैलेवयर के बारे में पता चला है, जिससे हमारे देश का संवेदनशील डेटा चुराया जा सकता है। कुछ पाकिस्तानी हैकर्स ने फेक आरोग्य सेतु ऐप बनाया है जिससे वे ब्यूरोक्रेटस और डिफेंस से जुड़े अधिकारियों के फोन से सूचनाएं पा सकें।’

फर्जी ऐप से ऐसे करें अपना बचाव
  • ऐप प्ले स्टोर या iOS से ही डाउनलोड करें।
  • किसी अनवैरिफाइड सोर्स या लिंक से आरोग्य सेतु ऐप डाउनलोड न करें।
  • फर्जी ऐप की एक्सटेंशन फाइल का नाम .apk है। आरोग्य सेतु ऐप की एक्सटेंशन फाइल का नाम gov.in है।
  • अगर आपको कोई फर्जी लिंक भेजता है तो साइबर सेल को फौरन इसकी जानकारी दें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *