ओवैसी ने Facebook की विश्वसनीयता पर उठाए सवाल, बोले- हो गया BJP से रिश्तों का खुलासा

New Delhi: AIMIM चीफ और हैदराबाद के सांसद असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) ने अमेरिकी अखबार वॉल स्ट्रीट जनरल (Wall Street General) का हवाला देते हुए BJP और Facebook पर निशाना साधा है।

ओवैसी (Asaduddin Owaisi) ने आरोप लगाया कि फेसबुक (Facebook) के कर्मचारी बीजेपी के नियंत्रण में काम कर रहे हैं। AIMIM प्रमुख ने अपने ट्विटर अकाउंट पर लिखा कि अलग-अलग देशों के लिए फेसबुक के अलग-अलग मानक क्यों, यह किस तरह का निष्पक्ष मंच है। यह रिपोर्ट बीजेपी के लिए नुकसानदायक है। अब समय आ गया है कि बीजेपी के फेसबुक के साथ संबंधों (BJP Facebook Relation) का खुलासा किया जाए।

दरअसल, अमेरिकी अखबार ‘वॉल स्ट्रीट जर्नल’ (Wall Street General) में छपे एक लेख में कहा गया है कि भारत में सत्ताधारी पार्टी BJP के नेताओं और कार्यकर्ताओं के हे’ट स्पीच और आप’त्तिजनक सामग्री को लेकर फेसबुक “कोताही बरतता” है।

दिग्विजय सिंह ने भी घेरा

कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह (Digvijay Singh) ने इस मुद्दे पर फेसबुक (Facebook) के सीईओ मार्क जकरबर्ग (Mark Zuckerberg) को घेरा है। दिग्विजय ने ट्वीट किया, ‘मार्क जकरबर्ग कृपया इस पर बात करें। प्रधानमंत्री मोदी (PM Narendra Modi) के समर्थक अंखी दास को फेसबुक (Facebook) में नियुक्त किया गया जो खुशी-खुशी मुस्लिम विरोधी पोस्ट को सोशल मीडिया पर अप्रूव करता है। आपने साबित कर दिया कि आप जो उपदेश देते हैं उसका पालन नहीं करते।’

‘वॉल स्ट्रीट जर्नल’ के लेख में क्या छपा?

लेख (Wall Street General) में फेसबुक (Facebook) के एक अधिकारी के हवाले से यह भी कहा गया है कि बीजेपी कार्यकर्ताओं को दंडित करने से “भारत में कंपनी के कारोबार पर असर पड़ेगा।” लेख में कहा गया है कि फेसबुक ने बीजेपी को लेकर व्यापक पैमाने पर अनुचित तरजीही दी है।

दरअसल, बीजेपी नेता टी।राजा (BJP Leader T Raja) ने अपने फेसबुक पोस्ट (Facebook Post) में कहा था कि रोहिंग्या मुसलमानों को गोली मार देनी चाहिए। उन्होंने मुस्लिमों को देशद्रोही बताया था और मस्जिद गिराने की भी धमकी दी थी।

इसका विरोध फेसबुक (Facebook) की कर्मचारी ने किया था और इसे कंपनी के नियमों के खिलाफ माना था, लेकिन कंपनी के भारत में बैठने वाले वरिष्ठ कर्मचारियों ने इस पर कोई कार्रवाई नहीं की थी, जिसके बाद ओवैसी (Asaduddin Owaisi) और दिग्विजय (Digvijay Singh) ने फेसबुक की विश्वसनीयता पर भी सवाल उठाए गए।

राहुल गांधी ने भी निशाना साधा

इससे पहले राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने भी सरकार (Modi Govt) पर निशाना साधते हुए भारत में फेसबुक (Facebook) और व्हॉट्सएप (Whatsapp) पर नियंत्रण या कब्जा करने का आरोप लगाया है।

गौरतलब है कि अमेरिका में चुनाव होने वाले हैं। 2016 के चुनाव में सत्तारूढ़ पार्टी का पक्षपात करने का आरोप झेल चुके ट्विटर और फेसबुक नए नियम लेकर आए हैं, लेकिन भारत में भी फेसबुक के नियमों पर बहस शुरू हो गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *