Nawab Malik VS NCB: मेरे दामाद के पास से कोई भी ड्रग्स नहीं मिला था, नवाब मलिक ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में दी सफाई

Nawab Malik VS NCB: मेरे दामाद के पास से कोई भी ड्रग्स नहीं मिला था, नवाब मलिक ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में दी सफाई

photo 87014060

मुंबई
महाराष्ट्र के कैबिनेट मंत्री और एनसीपी के वरिष्ठ नेता नवाब मलिक और नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो के बीच चल रही लड़ाई में एक और अहम मोड़ सामने आया है। नवाब मलिक ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में गुरुवार को फिर से नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो पर सवालिया निशान खड़े किए। नवाब मलिक ने कहा कि उनके दामाद के पास से कोई भी गांजा बरामद नहीं हुआ था।

हर्बल तंबाकू मिली थी
नवाब मलिक ने कहा कि नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो को तंबाकू और ड्रग्स के बीच में कोई फर्क समझ में नहीं आता। मेरे दामाद के पास से कोई भी गांजा बरामद नहीं किया गया था। बल्कि उसके पास से हर्बल तंबाकू मिली थी।

नवाब मलिक ने कहा कि अदालत में जब तस्वीरों का जिक्र किया गया। तब सरकारी वकील ने कहा कि हमने इन तस्वीरों को खींचने की इजाजत दी थी। इसके बाद जब दूसरा सवाल सरकारी वकील से पूछा गया कि आखिर जो भी चीज तस्वीरों में दिखाई पड़ रही है। वह सीलबंद क्यों नहीं है? इस पर सरकारी वकील के पास कोई जवाब नहीं था और उन्होंने सीधा मीडिया के ऊपर आरोप लगाते हुए कहा कि यह मीडिया कर्मियों ने तस्वीरों को खींचने के दौरान खोल दिया होगा।

समीर
की गिरफ्तारी
नवाब मलिक ने कहा कि मेरे दामाद समीर को 13 जनवरी के दिन गिरफ्तार किया गया था। उस वक्त उन पर यह आरोप लगाया गया है कि उनके पास से भारी मात्रा में गांजा बरामद किया गया। लेकिन मेरे दामाद के पास से कोई भी गांजा बरामद नहीं हुआ था। नवाब मलिक ने कहा कि मेरे दामाद को झूठे आरोपों में फंसा कर जेल भेजा गया और कई महीने उसे जेल में रहना पड़ा।

शरद पवार ने दिया साथ
नवाब मलिक ने कहा कि जब मेरे परिवार पर यह गंभीर आरोप लगाया गया। उस वक्त मेरा परिवार और मैं एक भयानक परिस्थिति से गुजर रहे थे। लोग मुझसे और पार्टी के मुखिया शरद पवार से मेरे दामाद के बारे में सवाल पूछ रहे थे। उस समय शरद पवार ने मेरा हौसला बढ़ाते हुए कहा कि इनके दामाद ने जो भी गुनाह किया है, उसकी सजा उसको मिलनी चाहिए। लेकिन दामाद की गलती की सजा किसी ससुर को नहीं मिलनी चाहिए।

धमकी भरे फोन
नवाब मलिक ने कहा कि जब से मैंने नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो के फर्जीवाड़े को मीडिया और देश के सामने रखा है। तब से मुझे धमकी भरे फोन आ रहे हैं। यह फोन एनसीपी ऑफिस में आ रहे हैं। मेरी जान को खतरे में देखते हुए मेरी सुरक्षा व्यवस्था को भी बढ़ाया गया है। आने वाले दिनों में एनसीबी के और भी फर्जीवाड़े का खुलासा करूंगा।