भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष मुकुल रॉय ने शुक्रवार को तृणमूल कांग्रेस में की घर वापसी

mukul-roy-returns-to-trinamool-mamata

कोलकाता, 11 जून (वेबवार्ता)। भाजपा का दामन छोड़ते हुए शुक्रवार को मुकुल रॉय ने अपने बेटे शुभ्रांशु रॉय के साथ तृणमूल कांग्रेस में घर वापसी कर ली है। पश्चिम बंगाल में भाजपा के लिए इसे एक बड़ा झटका माना जा रहा है। मुकुल रॉय ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की मौजूदगी में तृणमूल कांग्रेस के मुख्यालय पहुंच पार्टी की सदस्यता ग्रहण की। इस मौके पर ममता ने कहा कि मुकुल हमारे घर के ही सदस्‍य हैं। वह अपने घर वापस आ गए हैं। मैं उनका अभिनंदन करती हूं। इस दौरान ममता बनर्जी ने कहा कि चुनावों के दौरान मुकुल ने हमारे साथ गद्दारी नहीं की। जिन लोगों ने गद्दारी की है उन्‍हें हम वापस पार्टी में नहीं लेंगे।

ममता बोली- मुकुल रॉय ने कभी खिलाफ नहीं बोला

ममता बनर्जी ने कहा कि मुकुल रॉय ने विधानसभा चुनाव से पहले एक भी शब्द हमारी पार्टी के खिलाफ नहीं बोला है। उन्होंने कहा कि हम मुकुल रॉय का स्वागत करते हैं। वह पार्टी के अंदर महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगे। ममता ने कहा कि बीजेपी लोकतांत्रिक पार्टी नहीं है। बीजेपी जमींदार की पार्टी है। ओल्ड हमेशा गोल्ड होता है। ममता बनर्जी ने यहां तक आरोप लगाते हुए कहा कि बीजेपी में मुकुल रॉय को धमकाया गया, इसकी वजह से उनकी सेहत पर असर पड़ा है।

मुकुल रॉय बोले- बीजेपी में कोई नहीं रहेगा

तृणमूल कांग्रेस के मुख्यालय पर आयोजित पत्रकार वार्ता में मुकुल रॉय ने कहा, ‘मुझे टीएमसी में वापस आकर बहुत अच्‍छा लग रहा है। भाजपा से बाहर निकलकर अपने लोगों और पुराने लोगों से मिलकर बहुत संतुष्टि मिल रही है। मैं भाजपा में काम नहीं कर पाया। इसलिए अपने पुराने घर वापस आ गया। रॉय ने कहा कि मैं भाजपा छोड़कर TMC में आया हूं, अभी बंगाल में जो स्थिति है, उस स्थिति में कोई भाजपा में नहीं रहेगा।

मुकुल रॉय को बड़ी जिम्मेदारी देगी टीएमसी

मुकुल रॉय के दोबारा टीएमसी में शामिल होने पर पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने कहा कि वह (मुकुल रॉय) पार्टी में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगे। पहले वे जो भूमिका निभाते थे, भविष्य में भी वे वही भूमिका निभाएंगे। TMC एक परिवार है। इस दौरान ममता बनर्जी ने भाजपा पर जोरदार हमला बोला। ममता ने कहा कि भाजपा ईमानदार लोगों को जांच एजेंसियों की मदद से परेशानी करती है।

2017 में टीएमसी छोड़ भाजपा में गए थे मुकुल रॉय

मुकुल रॉय सबसे पहले टीएमसी छोड़ने वाले नेताओं में शुमार थे। 2017 में वह टीएमसी छोड़कर भाजपा में शामिल हुए थे और इसके बाद बड़ी संख्या में टीएमसी नेताओं को उन्होंने भाजपा जॉइन कराई थी। मुकुल रॉय की हैसियत टीएमसी की सरकार में नंबर 2 के नेता के रूप में थी। वह यूपीए 2 सरकार में रेल मंत्री भी रह चुके हैं। इसके अलावा नारदा और शारदा घोटाले में भी उनका नाम सामने आ चुका है।