किसान मार्च: हिरासत में प्रियंका गांधी, राहुल गांधी बोले- कृषि कानून रद्द करे सरकार

Webvarta Desk: Kisan March: कृषि कानूनों (Farms Law) को लेकर एक ओर जहां किसानों का आंदोलन (Farmers Protest) जारी है, वहीं दूसरी तरफ आज कांग्रेस दिल्ली में मार्च निकालने की तैयारी कर रही थी। इस बीच कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) समेत पार्टी के कई बड़े नेताओं को हिरासत में ले लिया गया है, क्योंकि पुलिस (Delhi Police) ने मार्च निकालने की परमिशन नहीं दी। हालांकि, बाद में सभी को रिहा भी कर दिया गया।

हालांकि, राहुल गांधी (Rahul Gandhi) समेत तीन नेताओं को राष्ट्रपति भवन जाने (Kisan March) की इजाजत दी गई और उन्होंने राष्ट्रपति से मुलाकात की।

इससे पहले आज सुबह कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने ट्वीट कर सरकार को घेरा है। राहुल ने लिखा कि भारत के किसान ऐसी त्रासदी से बचने के लिए कृषि-विरोधी क़ानूनों के ख़िलाफ़ आंदोलन कर रहे हैं, इस सत्याग्रह में हम सबको देश के अन्नदाता का साथ देना होगा।

राहुल ने की राष्ट्रपति से मुलाकात

कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने गुरुवार को कृषि कानून को लेकर राष्ट्रपति से मुलाकात की, जिसके बाद उन्होंने केंद्र सरकार पर हमला बोला। राहुल गांधी ने बताया कि राष्ट्रपति से हमने कहा है कि इन कानूनों से किसानों को नुकसान होने वाला है, देश को दिख रहा है कि किसान कानून के खिलाफ खड़ा है। मैं प्रधानमंत्री से कहना चाहता हूं कि किसान हटेगा नहीं, जबतक कानून वापस नहीं होगा तबतक कोई वापस नहीं जाएगा।

राहुल गांधी ने कहा कि सरकार संसद का संयुक्त सत्र बुलाए और इन कानूनों को तुरंत वापस लें। राहुल ने कहा कि आज किसान दुख और दर्द में हैं, कुछ किसानों की मौत भी हुई है।