भुलाया नहीं जा सकता आपातकाल, कांग्रेस ने 21 महीने किया सत्ता का दुरुपयोग: BJP अध्यक्ष जेपी नड्डा

नई दिल्ली. देशभर में इमरजेंसी की बरसी पर बीजेपी ने कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा है. बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने आज कहा कि देश का लोकतंत्र समय के साथ बहुत मजबूत हुआ है. लेकिन आजादी के बाद देश में इमरजेंसी भी लागू की गई जो कांग्रेस की काली करतूत के नाम से हमेशा जाना जाएगा.

बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने इमरजेंसी के 45 साल पूरे होने पर आज कांग्रेस पर जमकर हमला बोला है.

बीजेपी का कांग्रेस पर तीखा हमला

नड्डा ने आज इमरजेंसी को लेकर एक वीडियो संदेश भी जारी किया है. जो 25 जून 1975 के नाम से चलाया गया है. उन्होंने कहा कि बहुत आश्चर्य होता है कि सत्ता के शीर्ष पर बैठे व्यक्ति जब अपने लोगों पर ही जुल्म करना शुरु कर देते है. सिर्फ इसलिये कि सत्ता कहीं हाथ से फिसल नहीं जाए.

यह इमरजेंसी देश को आजादी के मात्र 28 साल बाद लगाए गए जब आजादी के लिये संघर्ष की याद धुंधली भी नहीं हुई थी. उस समय देश के पीएम इंदिरा गांधी ने आंतरिक अशांति के नाम पर जबरन इमरजेंसी लागू कर दी. जो कांग्रेस पार्टी के लिये वो कलंक है जो कभी धुल नहीं सकता.

देश में 21 महीने तक लागू रही इमरजेंसी

बता दें कि देश में इमरजेंसी संविधान की धारा 352 का प्रयोग करते हुए तत्कालीन राष्ट्रपति ने इंदिरा गांधी के कहने पर लागू की थी. यह इमरजेंसी 25 जून 1975 को लागू कर दी गई थी. जो अगले 21 महीने तक जारी रहा.

इस दौरान इंदिरा गांधी ने विपक्ष में उठने वाली हर आवाज को दबाने के लिये जेल की दीवार के पीछे भेज दिया. हालांकि इंदिरा गांधी ने यह इमरजेंसी 1971 के लोकसभा चुनाव में धांधली के कारण उनके जीत को ही इलाहबाद हाईकोर्ट ने अवैध घोषित कर दिया था. जिसके बाद ही इंदिरा गांधी ने अपनी कुर्सी बचाने के लिये बड़ा दांव खेला था.