जम्मू कश्मीर में वीरता की मिसाल बनें इन जवानों को मिला शौर्य चक्र

New Delhi: जम्मू-कश्मीर में अपनी शौर्यता (Shaurya Chakra) से आ’तंकि’यों के मं’सूबे नाकाम करने वाले सुरक्षाबलों के जवानों (Indian Army) के शौर्य चक्र से सम्मानित किया गया है।

भारतीय सेना (Indian Army) की ओर से बताया गया कि हवलदार आलोक कुमार दुबे (Alok Dubey), मेजर अनिल उर्स और लेफ्टिनेंट कर्नल कृष्ण सिंह रावत को जम्मू कश्मीर में तमाम ऑपरेशनों में वीरता के लिए शौर्य चक्र (Shaurya Chakra Indian Army) से सम्मानित किया गया है।

हवलदार आलोक दुबे की कहानी

भारतीय सेना (Indian Army) की ओर से बताया गया कि 22 जून 2019 को हवलदार आलोक दुबे (Alok Dubey)की बहादुरी ने कई जिंदगियों को बचाया। 22 जून को खबर मिली कि आं’तकि’यों ने जम्मू-कश्मीर के एक गांव के पास बागों में घुसपैठ की। हवलदार आलोक दुबे को वहां पर जिम्मेदारी सौंपी गई कि वो वहां जाकर आ’तंकि’यों की घेराबंदी करो।

आलोक दुबे (Alok Dubey)ने वीरता और चतुराई से ठीक वैसा ही किया। सुबह के 05 बजकर 40 मिनट हवलदार आलोक की नजर किसी सं’दिग्ध पर पड़ी और आगे थोड़ा घनी बस्ती में आवाजाही की आवाजें सुनाई दी।

एक आ’तं’की को मारा

पांच मिनट बाद हवलदार आलोक ने आ’तं’कवा’दियों का एक ग्रुप देखा जो कि सुरक्षाघेरा को तोड़ने की कोशिश कर रहा था। वहां पर बहुत सारा जंगल होने के कारण दूर तक नहीं दिख रहा था, आ’तं’कियों ने इसका लाभ उठाया और सुरक्षाबलों पर ग्रे’नेड से हम’ला किया और अंधा’धुंध फा’यरिं’ग कर दी। हवलदार आलोक ने साहस दिखाते हुए आगे बढ़े आ’तं’कि’यों को चारों तरफ से घेर लिया और एक आ’तं’की को मा’र भी गिराया।

शौर्य चक्र

मेडल: गोलाकार और कांस्य निर्मित, 1.38 इंच का व्यास है। इस मेडल के अग्र भाग पर केन्द्र में अशोक चक्र की प्रतिकृति उत्कीर्ण है जो कमल माला से घिरी हुई है। इसके पश्च भाग पर हिन्दी और अंग्रेजी दोनों में शौर्य चक्र उत्कीर्ण है, और ये रूपान्तरण कमल के दो फूलों द्वारा अलग-अलग हो रहे हैं ।

फीता: तीन खड़ी लाइनों द्वारा बराबर भागों में विभाजित हरे रंग का फीता ।

बार: यदि कोई चक्र प्राप्तकर्ता ऐसी वीरता का कार्य पुनः करता है जो उसे चक्र प्राप्त करने के लिए पात्र बनाएगा तो फीते को जोड़े जाने के लिए ऐसे और वीरता के कार्य की पहचान बार द्वारा की जाएगी जिसके द्वारा चक्र संलग्न हो जाता है । प्रदत्त प्रत्येक बार के लिए लघुचित्र में चक्र की एक प्रतिकृति, इसे अकेले पहनते समय फीते के साथ शामिल की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *