Independence Day: PM मोदी ने देशवासियों को दी स्वतंत्रता दिवस की बधाई, बोले- ‘जय हिंद’

New Delhi: आजादी की 74वीं वर्षगांठ (74th Independence Day) पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने देशवासियों को स्वतंत्रता दिवस की बधाई दी। PM मोदी ने अपने ट्वीट करते हुए लिखा, ‘#स्वतंत्रतादिवस के पावन अवसर पर सभी देशवासियों को बहुत-बहुत शुभकामनाएं। जय हिंद!’

इससे पहले पीएम मोदी (PM Narendra Modi) ने राजघाट (Rajghat) पर बापू महात्मा गांधी (Mahatma Gandhi) को श्रद्धांजलि दी। इसके बाद PM मोदी अपने काफिले के साथ लाल किले (Red Fort) पर पहुंचे, जहां रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने पीएम मोदी का स्वागत कर गार्ड ऑफ ऑनर दिया।

इसके तुरंत बाद पीएम मोदी (PM Narendra Modi) ने लालकिले की प्राचीर से तिरंगा फहराया। तिरंगा फहराने के बाद पीएम मोदी ने राष्ट्र ध्वज को सलामी दी।

गौरतलब है कि लाल किले (Red Fort) पर स्वतंत्रता दिवस (Independence Day) समारोह में इस बार सिर्फ वही लोग हिस्सा ले पाएं हैं, जिन्हें न्योता भेजा गया है। रक्षा मंत्रालय ने शुक्रवार को बताया कि 4000 से ज्यादा लोगों को समारोह (Independence Day Ceremony 2020) के लिए न्योता दिया गया है।

समारोह (Independence Day Ceremony 2020) की गरिमा भी बरकरार रहे और कोविड-19 प्रोटोकॉल्स का अधिक से अधिक पालन भी हो सके, इसके लिए बहुत संतुलित तैयारियां की गई हैं। पीएम मोदी (PM Narendra Modi) इस बार लाल किले से झंडा फहराने का एक दिलचस्प रेकॉर्ड भी बनाया है।

पीएम मोदी लगातार सातवीं बार फहराया लाल किले पर तिरंगा

इस बार प्रधानमंत्री (PM Narendra Modi) ने लगातार 7वीं बार लाल किले पर तिरंगा फहराया (Tricolor to be Hoisted) और प्राचीर से संबोधन शुरू किया। लाल किले से सबसे ज्यादा बार तिरंगा फहराने के मामले में PM मोदी ने अटल बिहारी वाजपेयी (Atal Bihari Vajpayee) को पीछे छोड़ दिया है लेकिन तब भी चौथे स्थान पर ही रहेंगे।

पहले पीएम जवाहर लाल नेहरू (Jawahar Lal Nehru) ने 15 अगस्त को सबसे ज्यादा 17 बार लाल किले पर तिरंगा फहराया है। दूसरे नंबर पर इंदिरा गांधी (16) और तीसरे नंबर पर मनमोहन सिंह (10) हैं।

बिना न्योता समारोह में नहीं हो सकेंगे शामिल

स्वतंत्रता दिवस समारोह (Independence Day Ceremony 2020) के लिए जिन 4000 से ज्यादा लोगों को न्योता दिया गया है उनमें राजनयिक, अधिकारी और मीडिया के लोग भी शामिल हैं। जिन लोगों को भी न्योता भेजा गया है, उनसे मास्क पहनने की गुजारिश की गई है। कुछ जगह ऐसे बनाए गए हैं जहां से मास्क का वितरण भी किया जाएगा। इसके अलावा पहले से तय की गईं कुछ जगहों पर हैंड सैनिटाइजर की व्यवस्था की गई है। हर एंट्री पॉइंट्स पर मेहमानों की थर्मल स्क्रीनिंग होगी।

‘दो गज की दूरी’ का मंत्र

सीटिंग अरेंजमेंट ऐसी की गई है कि दो मेहमानों के बीच कम से कम 2 गज की दूरी रहेगी। गार्ड ऑफ आनर टीम के मेंबर्स को क्वारंटीन में रखा गया है।

इस बार छोटे स्कूली बच्चे नहीं दिखेंगे

कोरोना वायरस संक्रमण से सुरक्षा के लिहाज से इस बार स्वतंत्रता दिवस समारोह में छोटे स्कूली बच्चों को नहीं बुलाया गया है। हालांकि, नैशनल कैडेट कोर (एनसीसी) के चुनिंदा 500 कैडेट्स को न्योता भेजा गया है और उन्हें ज्ञानपथ पर बैठाया जाएगा।

चप्पे-चप्पे पर रखी जा रही निगाह

स्वतंत्रता दिवस (Independence Day) के मद्देनजर दिल्ली में सुरक्षा पहले से ही सख्त की जा चुकी है। जगह-जगह वाहनों की चेकिंग हो रही है। लाल किले के चप्पे-चप्पे पर नजर रखने के लिए 300 सीसीटीवी कैमरों का इस्तेमाल हो रहा है। आस-पास की इमारतों पर स्नाइपर तैनात हैं। दिल्ली पुलिस के 45 हजार जवानों की स्पेशल ड्यूटी लगाई गई है।

इस बार नहीं मिलेंगे हाथ

इस बार हाथ मिलाकर अभिवादन नहीं होगा। दरअसल पीएम के लाल किला पहुंचने पर रक्षा मंत्री, रक्षा राज्य मंत्री और रक्षा सचिव उनकी अगुआनी करते हैं। इस दौरान सभी पीएम से हाथ भी मिलाते हैं। इसके अलावा किले की प्राचीर की तरफ जाते समय तीनों सेनाओं के प्रमुख प्रधानमंत्री को सलामी देते हैं और उनसे हाथ मिलाते हैं। हालांकि, इस बार कोरोना वायरस महामारी की वजह से ऐसा नहीं हो पाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *