लद्दाख: फिर भिड़े भारत और चीन के सैनिक! PLA ने भारतीय सेना पर लगाए फाय’रिंग के आरोप

New Delhi: भारत और चीन (India China Army Clashes) के बीच सीमा को लेकर त’नाव कम होने के आसार नहीं दिख रहे हैं।

सोमवार देर रात चीन ने भारतीय सैनिकों (India China Army Clashes) पर सीमा पार करने और गो’लीबा’री करने का आ’रोप लगाया है। दावा किया जा रहा है कि ताजा झ’ड़प लद्दाख के पैंगोग सो झील के दक्षिणी छोर पर स्थित एक पहाड़ी पर हुई है।

PLA के वेस्टर्न थियेटर कमांड के प्रवक्ता के हवाले से झ’ड़’प का दावा

चीनी अखबार ग्लोबल टाइम्स (Global Times) ने चीनी सेना के वेस्टर्न थियेटर कमांड के प्रवक्ता के हवाले से पैंगोग सो के पास झ’ड़’प (India China Army Clashes) का दावा किया है। अखबार ने लिखा, ‘भारतीय सेना ने पैंगोंग सो झील के दक्षिणी छोर के पास शेनपाओ की पहाड़ी पर एलएसी को पार किया।

अखबार (Global Times) ने आगे लिखा है, ‘भारतीय जवानों ने बातचीत की कोशिश कर रहे पीएलए के बॉर्डर पट्रोल से जुड़े सैनिकों पर वार्निंग शॉट फायर किए जिसके बाद चीनी सैनिकों को हालात काबू में करने के लिए कदम उठाने पड़े।’

उधर पीएल के वेस्टर्न थियेटर कमांडर के प्रवक्ता झांग शुई ने भारत पर आ’रोप लगााते हुए कहा,, ‘भारतीय पक्ष ने द्विपक्षीय समझौतों का उल्लंघन किया है। इससे क्षेत्र में त’नाव और गलतफहमी बढ़ेंगे। यह एक गंभीर सैन्य उकसावा है।’

झांग ने आगे कहा, ‘हम भारतीय पक्ष से मांग करते हैं कि खत’रना’क कदमों को रोके और फाय’रिंग करने वाले शख्स को सजा दे। साथ ही भारत यह सुनिश्चित करे कि ऐसी घटनाएं दोबारा ना हों। पीएलए के वेस्टर्न कामांड के सैनिक अपने कर्तव्यों का पालन करेंगे और राष्ट्र की क्षेत्रीय संप्रभुता की रक्षा करेंगे।’

भारत सरकार या सेना की तरफ से झ’ड़’प की पुष्टि नहीं

भारत सरकार या सेना की तरफ से इस झ’ड़’प की खबरों को लेकर फिलहाल कोई प्रतिक्रिया सामने नहीं आई है। लेकिन न्यूज एजेंसी ने एएनआई ने भी सूत्रों के हवाले से ईस्चर्न लद्दाख सेक्टर में एलएसी के पास त’नाव वाले इलाके में भारत-चीन के सैनिकों के बीच गो’लीबा’री का दावा किया है।

पैंगोंग सो के पास रणनीतिक रूप से अहम चोटी पर भारतीय जवानों ने किया था कब्जा

चीन की नापाक हरकतों को जवाब देते हुए कुछ दिन पहले ही भारतीय सैनिकों ने पैंगोंग सो झील के दक्षिणी किनारे की एक अहम चोटी पर कब्जा किया था और घुसपैठ की कोशिश कर रहे पीएलए के जवानों को पीछे हटने पर मजबूर कर दिया था।

तनाव कम करने के लिए अपने चीनी समकक्ष के साथ बैठक कर चुके हैं राजनाथ

आपको बता दें कि पिछले तीन महीनों से भारत और चीन के बीच सीमा वि’वा’द सुलझाने को लेकर बातचीत जारी है। सीमा पर जारी त’नाव को कम करने के लिए दोनों देश राजनयिक और सैन्य माध्यमों से लगातार संपर्क में हैं। हालांकि अब तक हुई बातचीत से सीमा वि’वा’द का कोई समाधान नहीं निकला है।

त’नाव कम करने के लिए रूस के मॉस्को में पिछले शुक्रवार को रक्षी मंत्री राजनाथ सिंह ने चीनी समकक्ष वेई फेंघे के साथ द्विपक्षीय बैठक भी की थी। यह बैठक 2 घंटे से ज्यादा चली थी। वहीं इसी मुद्दे पर विदेश मंत्री एस जयशंकर और चीनी विदेश मंत्री वांग यी के बीच मॉस्को के बैठक होने की संभावना भी जताई जी रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *