25.1 C
New Delhi
Sunday, September 25, 2022

‘राहुल गांधी सुरक्षाकर्मियों से लेते हैं सलाह, अनुभवी नेताओं को साइडलाइन किया’, आजाद ने लगाए आरोप

वेबवार्ता: कांग्रेस (Congress) से इस्तीफा देने के बाद गुलाम नबी आजाद (Ghulam Nabi Azad) राहुल गांधी (Rahul Gandhi) पर लगातार हमला कर रहे हैं। सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) को भेजे इस्तीफे में उन्होंने राहुल गांधी की कार्यशैली पर सवाल उठाए थे।

गुलाम नबी आजाद (Ghulam Nabi Azad) ने दावा किया कि पूरी कांग्रेस को यह बात पता है कि राहुल गांधी (Rahul Gandhi) अपने सुरक्षाकर्मी और पर्सनल स्टाफ से सलाह लेते हैं। अनुभव वाले नेताओं को साइडलाइन कर दिया जाता है। उन्होंने कहा कि भाषण देने से, कुछ देर के लिए किसी धरने में बैठने से, फोटो खिचवाने से कुछ नहीं होता।

‘चौकीदार चोर है’ के समर्थन नहीं थे सीनियर नेता

गुलाम नबी आजाद (Ghulam Nabi Azad) ने कहा कि वह व्यक्तिगत रूप से राहुल गांधी का बहुत सम्मान करते हैं, लेकिन वह संगठन के लिए ठीक नहीं हैं। आजाद ने कहा कि 2019 के चुनाव में कई मुद्दे थे, लेकिन राहुल गांधी ने एक नैरेटिव चुन लिया- चौकीदार चोर है। लेकिन कोई भी सीनियर नेता इस नैरेटिव के समर्थन में नही था। मीटिंग में किसी ने इसके पक्ष में हाथ नहीं खड़ा किया था। आप प्रधानमंत्री के लिए ऐसे शब्द का इस्तेमाल नहीं कर सकते हैं। रैली की शुरुआत इससे कर रहे हैं, खत्म इससे कर रहे हैं। क्या महंगाई-बेरोजगारी जैसे कोई दूसरे मुद्दे नहीं थे।

PM से गले मिलने वाला BJP से मिला हुआ है या मैं?

आजादी ने राहुल गांधी को दोहरा चरित्र वाला बताया। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी सदन में दो मिनट के भाषण के बाद पीएम मोदी से गले मिल लेते हैं। वहां कहते हैं कि उन्हें उनसे कोई शिकायत नहीं है। जब कोई समस्या नहीं है, तो फिर बाहर चिल्लाते क्यों हो कि मुद्दे को लेकर लड़ रहे हो।

इससे पहले उन्होंने मीडिया से बात करते राहुल गांधी पर हमला करते हुए कहा था कि घर वालों ने घर छोड़ने पर मजबूर किया और जहां घर वालों को लगे कि ये आदमी नहीं चाहिए तो अकलमंदी खुद घर छोड़ने में है। वहीं मीडिया ने जब उसने पूछता कि आपका रिमोट कंट्रोल बीजेपी के हाथ में है इस पर गुलाम नबी आजाद ने कहा कि जो शख्स अपनी स्पीच खत्म करने के बाद भरी सदन में उनसे (PM से) गले मिले, तो बताएं कि वे मिले हैं या मैं मिला हूं?

कांग्रेस ने मुझे ट्रोल करने के लिए नेताओं से कहा

गुलाम नबी आजाद ने कहा कि मुझे भड़काने का प्रयास किया गया। मुझ पर झूठे आरोप लगाए गए। कांग्रेस नेताओं को फोन करके कहा जाता था कि गुलाम के खिलाफ सोशल मीडिया पर कुछ बोल दो, उस पर ये आरोप लगा दो। उन्होंने कहा कि कई लोगों ने मुझे बताया कि AICC ने उन्हें ऐसा करने के लिए बोला।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

10,370FansLike
10,000FollowersFollow
1,124FollowersFollow

Latest Articles