21 जून के बाद केंद्र सरकार कहां से देगी वैक्सीन : अरविंद केजरीवाल

Kejriwal visits oxygen depot

नई दिल्ली, 10 जून (वेबवार्ता/इरशान सईद)। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कोरोना की संभावित तीसरी लहर के मद्देनजर की जा रही तैयारियों को लेकर आज सिरसपुर स्थित ऑक्सीजन स्टोरेज डिपो का दौरा किया। श्री केजरीवाल ने कहा कि सिरसपुर में 57 मीट्रिक टन ऑक्सीजन भंडारण क्षमता का क्रायोजेनिक टैंक लगाया जा रहा है।

साथ ही यहां 12.5 मीट्रिक टन प्रतिदिन ऑक्सीजन उत्पादन क्षमता वाला ऑक्सीजन उत्पादन प्लांट भी लगा रहे हैं। दिल्ली में 57 मीट्रिक टन के तीन ऑक्सीजन स्टोरेज टैंक स्थापित किए गए हैं, जिनकी कुल क्षमता 171 मीट्रिक टन की है। मुख्यमंत्री ने कहा कि दिल्ली में 19 ऑक्सीजन पीएसए प्लांट लगाए जा चुके हैं और अगले एक-दो दिन में इनका उद्घाटन किया जा सकता है। हम कोरोना की संभावित तीसरी लहर के मद्देनजर अपनी तैयारियां युद्ध स्तर पर कर रहे हैं।

ऑक्सीजन स्टोरेज डिपो का निरीक्षण करने के उपरांत श्री केजरीवाल ने कहा कि अगर कोरोना की तीसरी लहर आती है, तो दिल्ली सरकार उससे निपटने के लिए अपनी तैयारियां जोर शोर से कर रही है। कोरोना की दूसरी लहर में सबसे ज्यादा दिक्कत ऑक्सीजन की हुई थी और ऑक्सीजन की कमी की वजह से कुछ दिनों तक दिल्ली के लोगों को काफी ज्यादा परेशानी का सामना करना पड़ा था।

इसलिए इसकी तैयारियां जोर शोर से चल रही है कि अगर कोरोना की तीसरी लहर आती भी है, तो दिल्ली के लोगों को ऑक्सीजन की कमी नहीं होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार ने सिरसपुर में 57 मीट्रिक टन ऑक्सीजन क्षमता का स्टोरेज टैंक बनाया है। इसी तरह के बाबा साहब डॉ. अंबेडकर अस्पताल और डीडीयू अस्पताल में दो ऑक्सीजन स्टोरेज टैंक और बन चुके हैं। दिल्ली में कुल तीन ऑक्सीजन स्टोरेज बनाए गए हैं। प्रत्येक टैंक की ऑक्सीजन स्टोरेज क्षमता 57-57 मीट्रिक टन की है। इस तरह, दिल्ली में कुल 171 मीट्रिक टन ऑक्सीजन क्षमता के स्टोरेज टैंक बन चुके हैं।

उन्होंने कहा कि स्टोरेज टैंक के साथ ही यहां पर ऑक्सीजन उत्पादन प्लांट भी बनने जा रहे हैं। सिरसपुर में दो ऑक्सीजन उत्पादन प्लांट बनाए जाएंगे। दोनों की प्रतिदिन ऑक्सीजन उत्पादन क्षमता करीब 12.5 मीट्रिक टन की होगी। इसी तरह, दिल्ली के अलग-अलग इलाकों में ऑक्सीजन की सुविधा तैयार की जा रही है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि दिल्ली में अगले एक-दो दिनों में 19 ऑक्सीजन के पीएसए प्लांट का उद्घाटन किया जा सकता है। पूरी दिल्ली के अंदर ऑक्सीजन स्टोरेज, ऑक्सीजन उत्पादन की सुविधा बढ़ाई जा रही हैं। दूसरी लहर के दौरान ऑक्सीजन टैंकर की भी दिक्कत आई थी। पहले हमारे पास टैंकर नहीं थे और इस बार अगर हमें उत्तर प्रदेश, हरियाणा समेत आसपास से ऑक्सीजन मंगानी पड़े, तो इसके लिए हम अब टैंकर भी ला रहे हैं।