Farmers Protest: आज से शरू किसानों का ट्रैक्टर मार्च, सिंघु बॉर्डर से कुंडली पहुंचे अन्नदाता

Webvarta Desk: कृषि के तीन नए कानूनों (Farm Laws) को निरस्त कराने की मांग को लेकर दिल्ली की तमाम सीमाओं पर प्रदर्शन कर रहे अन्नदाताओं का आंदोलन (Farmers protest) आज 43वें दिन में प्रवेश कर गया है। ठंड और बारिश के बीच डटे किसान किसी कीमत पर अपनी मांगें बिना मनवाए वापस जाने के मूड में नहीं हैं। सरकार पर दबाव बढ़ाने के लिए आज 40 किसान संगठन ट्रैक्टर मार्च (Tractor March) निकाल दिल्ली घेरने में जुट गए हैं।

आज हजारों की संख्या में किसान ट्रैक्टर मार्च (Tractor March) निकाल रहे हैं। उनका कहना है कि ये गणतंत्र दिवस की रिहर्सल है। किसानों के इस मार्च को देखते हुए दिल्ली के बॉर्डर की सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी गई है। वहीं आज भी दिल्ली के कई रास्ते बंद रहेंगे। दिल्ली के टिकरी बॉर्डर पर किसानों का विरोध प्रदर्शन के दौरान एक प्रदर्शनकारी ने कहा, ‘जब तक कानून रद्द नहीं होगा तब तक हम यहां बैठे रहेंगे।’ वहीं किसान ट्रैक्टर मार्च का चौथा जत्था पलवल से रेवासन की ओर बढ़ गया है।

भाकियू के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने आज ट्रैक्टर मार्च के दौरान बताया कि हमारी ट्रैक्टर रैली डासना, अलीगढ़ रोड तक जाएगी फिर यह गाजीपुर बॉर्डर वापस आ जाएगी। यह 26 जनवरी को होने वाली रैली का रिहर्सल है। सरकार से अगले दौर की बैठक कल होगी।

किसान ट्रैक्टर मार्च के चलते पलवल के मौजपुर केएमपी पर आरएएफ फोर्स तैनात की गई है। यहां पर तीन थानों की पुलिस बल भी तैनात की गई है। इनका नेतृत्व एसीपी तिगांव कर रहे हैं, जिसमें महिला फोर्स भी शामिल है। जानकारी के अनुसार फरीदाबाद से करीब 60-70 ट्रैक्टर और पलवल से 250-300 ट्रैक्टर इस मार्च में शामिल हो सकते हैं।