Farmers Protest: राहुल गांधी बोले- मिट्टी का कण-कण गूंज रहा है, सरकार को सुनना ही पड़ेगा

Webvarta Desk: कृषि कानूनों (Farms Law) के खिलाफ किसानों का आंदोलन (Farmers Protest) आज 31 वें दिन में प्रवेश कर गया है। इस बीच कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahuhl Gandhi) ने एक बार फिर किसानों की आवाज को बुलंद किया है। राहुल गांधी ने किसान आंदोलन से जुड़ा एक वीडियो शेयर कर कहा कि मिट्टी का कण-कण गूंज रहा है, सरकार को सुनना पड़ेगा।

इससे पहले कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahuhl Gandhi) ने गुरुवार को कृषि कानून (Farms Law) के मसले पर राष्ट्रपति से मुलाकात की थी। जिसके बाद उन्होंने केंद्र सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि इन कानूनों से किसानों को नुकसान होने वाला है, देश को दिख रहा है कि किसान कानून के खिलाफ खड़ा है। मैं प्रधानमंत्री से कहना चाहता हूं कि किसान हटेगा नहीं, जबतक कानून वापस नहीं होगा तबतक कोई वापस नहीं जाएगा।

क्या है सरकार का तर्क

सितंबर 2020 में पास इन तीन नए कृषि कानूनों को केंद्र सरकार कृषि सुधारों की दिशा में बड़ा कदम मानती है। सरकार का मानना है कि इन कानूनों के असर से किसान आढ़तियों के चंगुल से मुक्त होंगे और अपना अनाज अपने पसंद की कीमत पर बेच सकेंगे। लेकिन किसानों का कहना है कि नए कानून से उन्हें सरकार की ओर से मिलता आ रहा MSP का सेफ्टी वॉल्व खत्म हो जाएगा।

एमएसपी को कानूनी गारंटी देने की मांग

कृषि मंत्रालय के एक अधिकारी ने कहा है कि सरकार किसान संगठनों के साथ अगले दो से तीन दिनों के अंदर बातचीत की टेबल पर बैठ सकती है। प्रदर्शन कर रहे एक किसान नेता ने अपना नाम गोपनीय रखने की शर्त पर कहा कि MSP को कानूनी गारंटी देने की उनकी मांग बनी रहेगी।