Corona vaccine: 16 जनवरी से लगेगा कोरोना का टीका, कब आएगा आपका नंबर? जानें हर जरूरी बात

Webvarta Desk: कोरोना वैक्सीनेशन (Corona Vaccine) शुरू होने की तारीख के ऐलान के साथ ही लोगों के जेहन में इसे लेकर तमाम तरह के सवाल आ रहे होंगे। मसलन- पहले किन्हें टीका लगेगा, इसकी प्रक्रिया क्या होगी, कोई व्यक्ति टीकाकरण के लिए एलिजिबल है या नहीं। आइए जानते हैं ऐसे ही सवालों के जवाब।
पहले किनको लगेगी वैक्सीन?

भारत में कोरोना टीकाकरण (Corona Vaccine in India) अभियान को दुनिया में सबसे बड़ा होगा। जाहिर है कि भारत जैसे विशाल आबादी वाले देश में सबको एक साथ टीका नहीं दिया जा सकता। इसके लिए सरकार ने प्रायॉरिटी ग्रुप बनाए हैं।

सबसे पहले हेल्थकेयर (डॉक्टर, नर्स और दूसरे स्वास्थ्यकर्मी) और फ्रंटलाइन वर्कर्स (पुलिसकर्मी, सफाईकर्मी आदि) को टीका लगेगा। इसके बाद 50 साल से ज्यादा उम्र के लोगों और 50 साल से कम आयुवर्ग के उन लोगों को टीका लगेगा जो पहले से किसी गंभीर बीमारी से पीड़ित (Comorbidities) हों।

क्या आम लोगों के लिए वैक्सीन मुफ्त होगी?

हेल्थकेयर और फ्रंटलाइन वर्करों को तो कोरोना वैक्सीन मुफ्त में लगेगी। आम लोगों को वैक्सीन मुफ्त में लगेगी या नहीं, इस पर अभी सरकार ने कोई ऐलान नहीं किया है। दिल्ली जैसे कुछ राज्यों ने अपने-अपने यहां मुफ्त कोरोना वैक्सीन लगवाने का ऐलान कर चुके हैं।

बीजेपी ने पिछले साल हुए बिहार विधानसभा चुनाव के दौरान राज्य के लोगों को मुफ्त वैक्सीन का वादा किया था। ऐसे में बहुत मुमकिन है कि बाकी राज्य भी इसी तरह मुफ्त वैक्सीन का ऐलान करें। हालांकि, सोशल मीडिया पर लोग मुफ्त वैक्सीनेशन के खिलाफ भी राय जाहिर कर रहे हैं। उनका कहना है कि जो लोग वैक्सीन के लिए पैसे देने में सक्षम हैं, उनसे वसूला जाना चाहिए।

देश में अब तक किन कोरोना वैक्सीन के इस्तेमाल की मंजूरी?

देश में अभी तक कोरोना की दो वैक्सीनों को इमर्जेंसी यूज की इजाजत दी जा चुकी है। सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया की कोरोना वैक्सीन कोविशील्ड और भारत बायोटेक की वैक्सीन कोवैक्सीन को ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DCGI) की तरफ से इमर्जेंसी यूज की अंतिम मंजूरी मिल चुकी है। सीरम इंस्टिट्यूट ऑक्सफर्ड यूनिवर्सिटी और एस्ट्राजेनेका के साथ मिलकर कोविशील्ड को बना रही है। वहीं भारत बायोटेक आईसीएमआर के साथ मिलकर कोवैक्सीन का निर्माण कर रही है।

क्या वैक्सीन लेना अनिवार्य है?

वैक्सीन लगवाना पूरी तरह से ऐच्छिक है। इसका फैसला आपको करना है कि आप वैक्सीन लगवाएंगे या नहीं।

क्या सबको लगेगा टीका?

सरकार पहले ही अलग-अलग मौकों पर स्पष्ट कर चुकी है कि सभी भारतीयों को कोरोना टीका लगवाने की जरूरत नहीं होगी। सिर्फ उतनी आबादी को टीका लगाने की जरूरत होगी, जिससे कि कोरोना वायरस के खिलाफ हर्ड इम्यूनिटी विकसित हो जाए। यानी आबादी के बड़े हिस्से में वायरस के खिलाफ प्रतिरोधक क्षमता विकिसत हो जाए। हर्ड इम्यूनिटी विकसित होने के साथ ही वायरस अपना असर खो देगा।

कैसे जांचे वैक्सीनेशन के लिए एलिजिबल हैं या नहीं?

अब सवाल उठता है कि अगर कोई टीका लगवाना चाहता है तो वह इसके लिए एलिजिबल है या नहीं, यह कैसे पता चलेगा। अगर आप हेल्थकेयर या फ्रंटलाइन वर्कर हैं तो आप निश्चित तौर पर एलिजिबल हैं। अगर आपको पहले से कोई गंभीर बीमारी है तब भी आप एलिजिबल हैं। अगर आप 50 साल से ज्यादा उम्र के हैं तब भी आप प्राथमिकता वाले समूह में शामिल हैं। अगर इनमें से किसी श्रेणी में आप नहीं आते तो आपको वैक्सीनेशन के लिए इंतजार करना पड़ेगा।

क्या रजिस्ट्रेशन जरूरी है?

बिल्कुल। कोरोना वैक्सीनेशन के लिए रजिस्ट्रेशन जरूरी है। स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को यह निर्देश दिए गए हैं कि सभी लाभार्थियों का ब्यौरा को-विन (Co-WIN)कोविड वैक्सीन इंटेलिजेंस नेटवर्क सिस्टम ऐप पर अपलोड हो। ऐसे में आपको इस ऐप पर रजिस्टर कराना होगा।

हेल्थ वर्कर्स और अग्रिम पंक्ति के कर्मचारियों को खुद को रजिस्टर्ड कराने की जरूरत नहीं है क्योंकि उनका डेटा बड़े पैमाने पर को-विन वैक्सीन डिस्ट्रीब्यूशन मैनेजमेंट सिस्टम में फीड है। रजिस्ट्रेशन के बाद लाभार्थी को उनके रिजस्टर्ड मोबाइल नंबर के जरिए एसएमएस भेजा जाएगा, जिसमें उन्हें वैक्सीनेशन की तारीख, स्थान और वैक्सीनेशन का समय बताया जाएगा।

रजिस्ट्रेशन के लिए किन डॉक्यूमेंट्स की जरूरत?

कोरोना वैक्सीन के रजिस्ट्रेशन के लिए इनमें से कोई भी एक डॉक्यूमेंट दिखाना होगा- आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, हेल्थ इंश्योरेंस स्मार्ट कार्ड, मनरेगा जॉब कार्ड, पैन कार्ड, बैंक या पोस्ट ऑफिस की पासबुक, पासपोर्ट, पेंशन डॉक्यूमेंट, केंद्र, राज्य व पीएयू कर्मचारियों का आई कार्ड, वोटर आईडी।

टीके की कितनी डोज लगेगी?

वैक्सीन की दो डोज लगेगी। वैक्सीन असरदार साबित हो, इसके लिए दोनों डोज जरूरी है।

कोविड वैक्सीन के क्या संभावित साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं?

वैक्सीन के कुछ आम साइड इफेक्ट होंगे, जैसे हल्का फीवर, जहां पर इंजेक्शन दिया जाता है, वहां पर दर्द समेत अन्य। वैक्सीन का कोई गंभीर साइड इफेक्ट नहीं होगा क्योंकि सिर्फ उन्हीं वैक्सीन को इजाजत दी जाएगी जो ट्रायल्स में पूरी तरह सेफ पाई गईं हैं।