Zakir Naik

जाकिर नाइक के बिगड़े बोल, कहा- ‘नरक में जाएंगे मूर्ति पूजा करने वाले’

New Delhi: मलेशिया में रह रहे भगोड़े इस्लामी धर्म गुरु जाकिर नाइक (Zakir Naik) ने एक बार फिर से गैर मुस्लिमों के प्रति विद्वेष फैलाने वाला बयान दिया है।

जाकिर नाइक (Zakir Naik) ने कहा कि अच्‍छी सोच रखने वाले ‘गैर मुस्लिमों’ को भी जन्‍नत नहीं मिलेगी। नाइक ने कहा कि मुसलमानों के प्रति अच्‍छी सोच रखने वाले गैर मुस्लिमों ने चूंकि धर्म परिवर्तन करके इस्‍लाम स्‍वीकार नहीं किया है, इसलिए उन्‍हें जन्‍नत नहीं नसीब होगी।

जाकिर नाइक (Zakir Naik) ने कहा कि ऐसे गैर मुस्लिम नरक में ही जाएंगे क्‍योंकि मूर्ति पूजा करने करने का उनका पाप किसी अन्‍य अपराध से बढ़कर है। नाइक का यह वीडियो यूट्यूब पर अपलोड किया गया है। बता दें कि नाइक पर अब शिकंजा कसता जा रहा है। केंद्र सरकार ने नाइक की प्रत्यर्पण के लिए मलेशिया सरकार से औपचारिक अनुरोध किया है।

मनी लॉड्रिंग और नफरत फैलाने का आरोप

सरकारी सूत्रों के मुताबिक सरकार मलेशिया सरकार के साथ इस मामले को उठा रही है। नेशनल इनवेस्टिगेशन एजेंसी (एनआईए) नाइक (Zakir Naik) के मामले की जांच कर रही है। लेकिन उसके जांच शुरू करने से पहले ही नायक भारत से भाग गया था। इसके बाद से ही वह मुस्लिम बहुल देश मलेशिया में रह रहा है। नायक पर मनी लॉड्रिंग और नफरत फैलाने वाले भाषण देने का आरोप है।

नाइक का नाम 2016 में ढाका में हुए बम धमाकों में भी आया था। इन धमाकों में सैकड़ों लोग मारे गए थे। इन धमाकों में शामिल एक आरोपी ने बाद में स्वीकार किया था कि नाइक के भाषणों के कारण वह यह घिनौना काम करने के लिए प्रेरित हुआ। एनआईए के अधिकारियों के मुताबिक नाइक पिछले तीन साल से मलेशिया में रह रहा है। भारत में उसके भाषण पीस टीवी पर प्रसारित होते थे जिस पर अब प्रतिबंध लगा दिया गया है।

मलेशिया ने नाइक को स्थाई नागरिकता दी

ब्रिटेन और कनाडा ने उसे वीजा देने से इनकार कर दिया था जिसके बाद मलेशिया ने उसे स्थाई नागरिकता दे दी। उसके एनजीओ इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन ने 2007 से 2011 के बीच मुंबई में पीस कॉन्फ्रेंस भी आयोजित किए थे। एनआईए के मुताबिक नाइक पर लोगों का धर्म परिवर्तन कराने की कोशिश करने और हिंसा फैलाने का भी आरोप है। हालांकि नाइक ने इन सभी आरोपों का खंडन किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *