पूर्व पेट्रोलियम मंत्री और गांधी परिवार के करीबी कैप्टन सतीश शर्मा का निधन, कांग्रेस ने जताया शोक

Webvarta Desk: Captain Satish Sharma Passes Away: पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस के वरिष्‍ठ नेता कैप्‍टन सतीश शर्मा (Captain Satish Sharma) का बुधवार रात गोवा में निधन हो गया। 73 वर्षीय शर्मा रायबरेली और अमेठी से सांसद रह चुके थे। जितिन प्रसाद (Jitin Prasad) और अलका लांबा (Alka Lamba) समेत अनेक कांग्रेसी नेताओं ने उनके निधन पर दुख व्‍यक्‍त किया है।

कैप्‍टन सतीश शर्मा (Captain Satish Sharma) केंद्र सरकार में पेट्रोलियम मंत्री रह चुके थे। कैप्‍टन शर्मा के बेटे समीर ने बताया, ‘उनका गोवा में रात आठ बजकर 16 मिनट पर निधन हो गया। उनका अंतिम संस्कार शुक्रवार को दिल्ली में किया जाएगा। उनका पार्थिव शरीर गोवा से दिल्ली लाया जा रहा है।’

कांग्रेस नेताओं ने दी श्रद्धांजलि

कैप्‍टन शर्मा (Captain Satish Sharma) के निधन पर शोक व्‍यक्‍त करते हुए जितिन प्रसाद (Jitin Prasad) ने ट्वीट किया है – ‘कैप्‍टन सतीश शर्मा के निधन के बारे में सुनकर दुख हुआ। अपने युवा सहयोगियों के प्रति उनका रवैया हमेशा प्रोत्‍साहित करने वाला रहा। उनकी कमी हमेशा खलेगी। भगवान उनकी आत्‍मा को शांति दे।’ वहीं, कांग्रेस नेता अलका लांबा (Alka Lamba) ने कैप्‍टन सतीश शर्मा के साथ अपनी तस्‍वीरें शेयर करते हुए उन्‍हें श्रद्धांजलि दी है।

1991 में अमेठी से चुनाव जीतकर बने सांसद

11 अक्‍टूबर, 1947 को तेलंगाना के सिकंदराबाद में जन्‍मे कैप्‍टन सतीश शर्मा ने देहरादून से शिक्षा ग्रहण की थी। बाद में वह पेशेवर पायलट बने।1991 में वह पहली बार अमेठी लोकसभा सीट से कांग्रेस के टिकट से चुनाव जीतकर सांसद बने। जनवरी 1993 से दिसंबर 1996 तक वह केंद्रीय पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्री के पद पर रहे।

तीन बार जीते लोकसभा चुनाव

पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के निकट सहयोगी रहे शर्मा नरसिम्हा राव सरकार में 1993 से 1996 तक केंद्रीय पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्री रहे। रायबरेली और अमेठी निर्वाचन क्षेत्रों का प्रतिनिधित्व कर चुके शर्मा तीन बार लोकसभा सदस्य चुने गए थे। वह तीन बार राज्यसभा सदस्य भी बने और उन्होंने मध्य प्रदेश, उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश का प्रतिनिधित्व किया।

2004 से 2016 तक रहे राज्‍यसभा सदस्‍य

वह पहली बार जून 1986 में राज्यसभा सदस्य बने और बाद में राजीव गांधी के निधन के बाद 1991 में अमेठी से लोकसभा सदस्य चुने गए। इसके बाद वह जुलाई 2004 से 2016 तक राज्यसभा सदस्य रहे। शर्मा के परिवार में उनकी पत्नी और एक बेटा एवं एक बेटी है।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता रणजीप सुरजेवाला ने शर्मा के परिवार के प्रति संवेदनाएं व्यक्त करते हुए ट्वीट किया, ‘पूर्व केंद्रीय मंत्री कैप्टन सतीश शर्मा के निधन से बेहद दु:खी हूं। कैप्टन शर्मा समर्पण और वफादारी की प्रतिमूर्ति थे। मैं उनके परिवार एवं मित्रों के प्रति संवेदनाएं व्यक्त करता हूं।’