कानपुर कांड: चिदंबरम ने उठाए सवाल- रात में कुख्‍यात अपराधी को पकड़ने गई पुलिस, भरोसा नहीं होता

New Delhi: कानपुर में 8 पुलिसकर्मियों के शहीद होने के बाद दुख और गुस्‍से का माहौल है। इस घटना को लेकर विपक्ष ने यूपी की योगी सरकार पर हमला करना शुरू कर दिया है। ताजा हमला वरिष्‍ठ कांग्रेसी पी चिदंबरम (P Chidambaram) ने किया है।

चिदंबरम (P Chidambaram) ने पूरी घटना में पुलिस की रणनीति पर सवालिया निशान लगाते हुए ट्वीट किया है। इसमें उन्‍होंने लिखा है, ‘यह विश्वास करना मुश्किल है कि एक प्रशिक्षित पुलिस बल सूर्यास्त के बाद अपने कुख्यात अपराधी को गिरफ्तार करने के लिए जाएगी। त्रासदी का पूर्वाभास हो गया था।’ हालांकि उन्‍होंने यह भी जोड़ा- ‘मैं पीड़ितों के परिवारों के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त करता हूं।’

‘यूपी इतना पिछड़ा कि…’

अपने दूसरे ट्वीट में चिदंबरम (P Chidambaram) ने लिखा है, ‘यूपी हर लिहाज से इतना पिछड़ा है कि यूपी पर राज करने वालों को शर्म से सिर झुका लेना चाहिए। यूपी में कांग्रेस 1985-1989 में 30 साल पहले आखिरी बार सरकार में थी। बीजेपी कांग्रेस को दोष नहीं दे सकती है और सोच रही है कि किसे दोषी ठहराया जा सकता है।’

अखिलेश ने कहा- रोगी सरकार

इससे पहले इस घटना को लेकर विपक्षी दल बीजेपी की योगी सरकार पर हमला कर चुके हैं। अखिलेश यादव ने इस घटना पर कहा कि योगी सरकार के मुठभेड़ के नाटक के कारण यह घटना हुई। वहीं मायावती ने इस घटना को शर्मनाक बताया। समाजवादी पार्टी ने योगी सरकार को रोगी सरकार बताया है तो प्रियंका गांधी ने घटना को भयावह बताते हुए कहा था कि यूपी में कानून व्यवस्था बेहद बिगड़ चुकी है, अपराधी बेखौफ हैं।

8 पुलिसकर्मी हुए थे शहीद

कानपुर में गुरुवार देर रात शातिर बदमाश विकास दुबे को पकड़ने गई पुलिस टीम पर हुई फायरिंग में आठ पुलिसकर्मी शहीद हो गए थे। अपराधियों के साथ मुठभेड़ में एक पुलिस उपाधीक्षक समेत आठ पुलिसकर्मियों की मौत हो गई। इस घटना में पांच पुलिस कर्मी, एक होमगार्ड का जवान और एक आम नागरिक घायल हो गए। इसके बाद शुक्रवार सुबह मुठभेड़ में पुलिस ने दो बदमाशों को मार गिराया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *