Chandrashekhar rao Modi

तेलंगाना CM चंद्रशेखर राव बोले- ‘केंद्र ने ‘गुं’डागर्दी’ के बल पर पारित कराया कृषि बिल’

New Delhi: केंद्र सरकार (Central Govt) के किसान बिल (Farm Bills) को लेकर तेलंगाना के मुख्यमंत्री और सत्तारूढ़ टीआरएस के अध्यक्ष के. चंद्रशेखर राव (Telangana CM Chandrasekhar Rao) ने बड़ा ह’म’ला बोला है। मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव ने शनिवार को कहा कि केंद्र ने ‘गुं’डागर्दी’ का सहारा लेकर संसद में कृषि बिलों को मंजूरी दी है।

राज्य में पहली ‘रायतु वेदिका’ (किसान सुविधा केंद्र) का उद्घाटन करते हुए टीआरएस प्रमुख (Telangana CM Chandrasekhar Rao) ने कहा कि वह कृषि कानूनों (Farm Bills) पर केंद्र (Central Govt) के खिलाफ लड़ने के लिए अन्य दलों के नेताओं से भी बात करेंगे।

तेलंगाना के जनगांव जिले के कोदकंदला में ‘रायतु वेदिका’ का उद्घाटन करने के बाद के. चंद्रशेखर राव (Telangana CM Chandrasekhar Rao) ने कहा कि तेलंगाना ने पंजाब की तरह विरोध-प्रदर्शन नहीं किया है, लेकिन टीआरएस ने संसद के दोनों सदनों में कृषि बिलों (Farm Bills) का विरोध किया था। अपनी लड़ाई के लिए पंजाब की सराहना करते हुए सीएम ने कहा कि तेलंगाना के लोगों को भी कृषि कानूनों का विरोध करने के बारे में सोचना चाहिए।

‘विरोध में रावण की जगह जलाए गए मोदी के पुतले’

केसीआर ने कहा कि पंजाब जैसे उत्तरी राज्य नए कृषि कानूनों पर आक्रोश के साथ विरोध-प्रदर्शन कर रहे हैं और दशहरा के दौरान रावण के बजाय मोदी के पुतले जलाए गए थे। उन्होंने कहा कि एनडीए सरकार के पास राज्यसभा में जरूरी संख्याबल नहीं था और विपक्षी दलों ने कृषि बिलों पर मतदान और विभाजन की मांग की, लेकिन अध्यक्ष ने घोषणा की कि बिल पारित हो चुके है।

‘किसान बिल से बड़े व्यापारियों को ही फायदा’

सीएम राव ने केंद्र के इस दावे को खारिज कर दिया कि कानूनों से किसानों को फायदा होगा। सीएम ने कहा कि इससे बड़े व्यापारियों को ही फायदा होगा। क्या कोई किसान दिल्ली जाएगा और वहां अपनी उपज बेचेगा? केवल कॉरपोरेट और व्यवसायी ही अपनी उपज अन्य राज्यों में बेच पाएंगे।

बीजेपी पर साधा निशाना, दी ये चुनौती

के चंद्रशेखर राव ने बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा कि हर साल राज्य सरकार का पेंशन पर खर्च 10,000 करोड़ रुपये से 11,000 करोड़ रुपये के बीच है, लेकिन केंद्र केवल 105 करोड़ रुपये देता है।

राव ने कहा कि राज्य सरकार विभिन्न श्रेणियों में प्रत्येक व्यक्ति को 2,016 रुपए देने के साथ ही 38.64 लाख से अधिक लोगों को पेंशन देती है, जिसमें वरिष्ठ नागरिक और विधवा जैसे लाभार्थी शामिल हैं लेकिन केंद्र केवल सात लाख लोगों को 200-200 रुपये का पेंशन देता है। उन्होंने कहा कि बीजेपी नेता दावा करते हैं कि केंद्र प्रति व्यक्ति 1,600 रुपये दे रहा है और अगर कोई उन्हें गलत साबित करता है तो वह पद छोड़ देंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *