25.1 C
New Delhi
Monday, October 3, 2022

T Raja: अब हिंदू पीछे नहीं हटेगा, बवाल और ऐक्शन के बीच भी टी राजा सिंह के तेवर बरकरार

वेबवार्ता: भाजपा से निलंबित विधायक टी राजा सिंह (MLA T Raja Singh) को तेलंगाना पुलिस (Telangana Police) ने एक बार फिर गिरफ्तार किया है। उन्हें दो दिन पहले पैगंबर विवाद में जमानत मिली थी।

पुलिस के कसते शिकंजे के बावजूद राजा सिंह (MLA T Raja Singh) के तेवर कम नहीं हुए हैं। उन्होंने नया वीडियो जारी करते हुए कहा कि अब हिन्दू पीछे नहीं हटेगा। गिरफ्तारी से कुछ देर पहले मुख्यमंत्री केसीआर को संदेश देते हुए राजा सिंह ने कहा कि न गोली, न फांसी और न जेल से हम डरते हैं।

पैगंबर मोहम्मद पर की गई आपत्तिजनक टिप्पणी के बाद से भाजपा से निलंबित विधायक टी राजा सिंह को तेलंगाना पुलिस ने गुरुवार दोपहर एक बार फिर गिरफ्तार कर लिया। बताया जा रहा है कि उन्हें पुराने केसों के मद्देनजर हिरासत में लिया गया है। दो दिन पहले पैगंबर विवाद पर उन्हें गिरफ्तार किया गया था लेकिन, एक घंटे में उन्हें कोर्ट से जमानत मिल गई थी। जिसके विरोध में हैदराबाद में जमकर विरोध प्रदर्शन हुआ और सर तन से जुदा के नारे लगाए गए।

अब टी राजा सिंह ने नया वीडियो जारी किया। अपने नए वीडियो में राजा सिंह के तेवर बरकरार हैं। वीडियो के कैप्शन में राजा सिंह लिखते हैं, “मुझे आज या कल गिरफ्तार किया जा सकता है। मैं बस इतना कहना चाहूंगा कि अगर कोई मेरे देश मेरे धर्म को बुरा कहेगा तो मैं उसे उसी की भाषा मे जवाब दूंगा चाहे इसकी सजा जो भी हो अब हिन्दू पीछे हटने वाला नहीं। आशा करता हुं कि इस धर्म युद्ध मे हर हिन्दू हमेशा की तरह मेरा साथ देगा। जय श्री राम”

सिंह के खिलाफ 75 से अधिक FIR दर्ज

गौरतलब है कि पुलिस ने राजा सिंह को उस आयोजन स्थल पर पहुंचने की कोशिश करने पर 19 अगस्त को हिरासत में लिया था, जहां अगले दिन फारुकी का कार्यक्रम होना था। बीजेपी एमएलए के खिलाफ 75 से अधिक एफआईआर दर्ज हैं, जिनमें से ज्यादातर हेट स्पीच से जुड़ी हुई हैं। सिंह इससे पहले यह बयान दे चुके हैं कि वह गायों की रक्षा के लिए कुछ भी कर सकते हैं।

2018 में सिंह ने कहा था कि भारत में रहने वाले बांग्लादेशियों और रोहिंग्याओं को बंदूक की नोक पर देश से भगा देना चाहिए। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, यह जरूरी नहीं है कि सिंह के बयान से उनकी पार्टी के नेता हर बार सहमत हों। एक भाजपा कार्यकर्ता ने बताया कि वह अपने फैसले खुद ही लेते हैं। पार्टी के दूसरे नेताओं से उनकी मुलाकात कम ही होती है। उनके बयानों को इसलिए नजरअंदाज कर दिया जाता है कि वो पार्टी से जुड़े हुए मजबूत सदस्य हैं।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

10,370FansLike
10,000FollowersFollow
1,124FollowersFollow

Latest Articles