25.1 C
New Delhi
Monday, October 3, 2022

BJP सांसदों पर एक्शन लेने वाले देवघर के डीसी मंजूनाथ भजंत्री पर देशद्रोह के आरोप में जीरो FIR

वेबवार्ता: BJP MP FIR airport row: भाजपा सांसद निशिकांत दुबे (Nishikant Dubey) और मनोज तिवारी (Manoj Tiwari) पर देवघर एयरपोर्ट के ATC रूम में घुसने के खिलाफ हुई एफआईआर का मामला तूल पकड़ता जा रहा है।

बता दें कि भाजपा सांसदों (BJP MP) पर एक्शन लेने वाले देवघर के जिला आयुक्त मंजूनाथ भजंत्री (DC Manjunath Bhajantri) के खिलाफ देशद्रोह के आरोप में दिल्ली पुलिस ने शिकायत दर्ज की है।

वहीं इससे पहले भाजपा सांसदों (BJP MP FIR airport row) पर देवघर एयरपोर्ट पर जबरन एटीसी ऑफिस में घुसकर उड़ान की मंजूरी लेने के आरोप लगाया गया था। इसमें भाजपा सांसद निशिकांत दुबे, मनोज तिवारी समेत नौ लोगों पर मुकदमा दर्ज हुआ है। वहीं दुबे का आरोप है कि यह शिकायत डीसी देवघर मंजूनाथ (DC Manjunath Bhajantri) के कहने पर हुई है।

डीसी पर FIR

निशिकांत दुबे की शिकायत पर दिल्ली पुलिस ने 3 सितंबर, शनिवार को देवघर डीसी के खिलाफ ‘जीरो एफआईआर’ दर्ज की है। शिकायत को दिल्ली पुलिस ने देवघर के कुंडा थाने में जांच के लिए भेजा है। सांसद निशिकांत दुबे ने दिल्ली के पी.एस. नॉर्थ एवेन्यू में 3 सितंबर सुबह 11.34 पर आईपीसी की धारा 124 ए (देशद्रोह), 353 (लोक सेवक को उसके कर्तव्य के पालन में बाधा बनने), 506 (आपराधिक धमकी), 120 बी (आपराधिक साजिश) और आधिकारिक गोपनीयता अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया करवाया है।

निशिकांत दुबे की एफआईआर में कहा गया है, “जब मैं जा रहा था, तभी झारखंड पुलिस और कर्मचारियों ने मुझे रोका और मेरे दोनों बेटों को गालियां दीं, जोकि मेरी चप्पल लेकर मेरे पास आ रहे थे। मुझे जान से मारने की धमकी भी दी गई।” दुबे का आरोप है कि देवघर डीसी के कहने पर कर्मचारियों ने मेरे काम में बाधा डाली।

वहीं खुद के ऊपर शिकायत दर्ज होने को लेकर देवघर के उपायुक्त मंजूनाथ भजंत्री ने द इंडियन एक्सप्रेस को बताया कि “एफआईआर 100 प्रतिशत मनगढ़ंत कहानी पर है। सुरक्षा प्रोटोकॉल का उल्लंघन करते हुए पकड़े जाने पर इस तरह का बेतुकी एफआईआर दर्ज हुआ है। इस मामले अधिकारियों द्वारा जांच के बाद सच बाहर आ जाएगा।”

भाजपा नेताओं पर क्यों हुई थी एफआईआर

दरअसल झारखंड में निशिकांत दुबे, मनोज तिवारी और कपिल मिश्रा चार्टर्ड प्लेन से एक सितंबर को देवघर पहुंचे थे। यहां से वे दुमका में जिंदा जलाई गई छात्रा अंकिता के परिजनों से मिलने पहुंचे थे। दुमका से लौटने के बाद जब बीजेपी नेता देवघर एयरपोर्ट पहुंचे तो उड़ान को क्लीयरेंस मिलने का समय खत्म हो चुका था क्योंकि शाम 6 बजे तक ही उड़ान की इजाजत थी।

आरोप है कि भाजपा सांसदों ने जबरन शाम 5.30 बजे क्लीयरेंस लिया। जिसके बाद मामला थाने तक पहुंच गया। शिकायत में देवघर एयरपोर्ट के निदेशक संदीप ढींगरा का भी नाम शामिल है। वहीं अब भाजपा सांसद ने भी जीसी मंजूनाथ भजंत्री पर भी एफआईआर कर दिया है।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

10,370FansLike
10,000FollowersFollow
1,124FollowersFollow

Latest Articles