PM मोदी समेत 50 VIP, बड़ी स्क्रीन.. राम मंदिर के भूमि पूजन के लिए चल रही भव्य तैयारी

New Delhi: राम मंदिर भूमि पूजन (Ayodhya Ram Mandir Bhumi Pujan) के लिए तैयारी जोरों पर है। राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के मुताबिक, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भूमि पूजन करेंगे।

5 अगस्त को प्रस्तावित इस कार्यक्रम (Ayodhya Ram Mandir Bhumi Pujan) में पीएम मोदी के समेत कई वीआईपी मेहमानों को निमंत्रण भेजा जाएगा। इनमें बीजेपी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी और मुरली मनोहर जोशी भी शामिल हैं।

इनके अलावा आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत, गृह मंत्री अमित शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे को भी निमंत्रण भेजा जाएगा।

1989 जैसा यादगार बनाने की कोशिश

कोरोना संकट को देखते हुए राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट मेहमानों की लिस्ट सीमित रख रहा है। सूत्रों का कहना है कि करीब 300 लोगों को बुलाया जा सकता है। ट्रस्ट की योजना है कि शिलान्यास कार्यक्रम को 10 नवंबर 1989 में विश्व हिंदू परिषद द्वारा आयोजित शिलान्यास कार्यक्रम वाला माहौल बनाने की है। तत्कालीन प्रधानमंत्री राजीव गांधी ने इसके लिए अनुमति दी थी।

आडवाणी ने लोगों तक पहुंचाया राम मंदिर आंदोलन

ट्रस्ट के सदस्य कामेश्वर चौपाल ने कहा, ‘ट्रस्ट के सदस्यों का मानना है कि आडवाणी ने ही राम मंदिर आंदोलन को लोगों तक पहुंचाया। बीजेपी के दूसरे नेताओं ने भी इसे लोकप्रिय बनाने में मदद की। उन्होंने बताया कि निमंत्रण की लिस्ट को जल्द ही अंतिम रूप दिया जाएगा।’

गर्भगृह में रखी जाएंगी 5 चांदी की ईंट

ट्रस्ट के अध्यक्ष नृत्य गोपाल दास के प्रवक्ता महंत कमल नयन दास ने कहा, ‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा भूमिपूजन के दौरान गर्भगृह के अंदर चांदी की पांच ईंटे रखी जाएंगी। ये ईंट हिंदू धर्म के अनुसार, पांच गृहों का प्रतीक होंगे।’

50 से ज्याद वीआईपी नहीं

सूत्रों के मुताबिक, कार्यक्रम में 50 से अधिक वीआईपी नहीं रहेंगे। कोरोना को देखते हुए सोशल डिस्टेंसिंग का पालन होगा। इसके अलावा अयोध्या के 5 से 6 जगहों पर बड़ी स्क्रीन लगाई जाएगी ताकि श्रद्धालु भी भूमि पूजन कार्यक्रम को देख सकें।