Army Day 2021: न झुकेंगे, न रुकेंगे… देश के वीर जवानों की साहस को सब कर रहे सलाम

Webvarta Desk: Army Day 2021: भारतीय सेना (Indian Army) अपने दुश्मनों को हर मोर्चे पर दांत खट्टे करती रही है। देश के जवानों की वीरता अदम्य है। आज भारतीय सेना अपना 73वां स्थापना दिवस (73rd Army Day) मना रही है।

पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने जवानों की वीरता को सलाम किया है। सीडीएस जनरल बिपिन रावत (CDS Bipin Rawat) ने भी जवानों की वीरता को याद किया है।

15 जनवरी 1949 को ही भारतीय सेना (Indian Army) ब्रिटिश थल सेना से पूरी तरह मुक्त हुई थी। इसके बाद इसी दिन जनरल केएम करियप्पा को भारतीय सेना का कमांडर इन चीफ बनाया गया था और देश के पहले आर्मी चीफ बने थे। इन्हीं दो यादगार लम्हों को याद करने के लिए आर्मी डे (Army Day 2021) मनाया जाता है।

राष्ट्रपति, पीएम मोदी ने दी सलामी

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद (President Ramnath Kovind) और पीएम नरेंद्र मोदी ने आर्मी डे पर जवानों को सैल्यूट किया है। राष्ट्रपति ने अपने संदेश में कहा कि देश आज भारतीय सेना के वीर महिला और पुरुष जवानों को बधाई दे रहा है। इस दिन हम उन जवानों को याद कर रहे हैं जिन्होंने देश की रक्षा के लिए अपना सर्वोच्च बलिदान दे दिया।

पीएम मोदी ने जवानों के परिजनों को सेना दिवस की बधाई दी है। उन्होंने कहा कि हमारी सेना मजबूत और साहसी और हमेशा देश को गर्वान्वित करते रहते हैं।

करियप्पा परेड ग्राउंड पर सलामी

इस अवसर पर आर्मी चीफ मनोज मुकुंद नरवणे (Army Chief M M Naravane) करियप्पा परेड ग्राउंड में सलामी लेंगे। देश इस अवसर पर जवानों की अदम्य वीरता और साहस को याद करता है और जवानों को श्रद्धांजलि देता है।

मजबूत और साहसी सेना

भारतीय जवानों की वीरता और पराक्रम किसी से छिपा नहीं है। चाहे बात हो पहाड़ों में लड़ाई की या फिर हाड़ जमा देने वाले सियाचिन की। भारतीय सेना ने हर जगह खुद को साबित किया है।

हमेशा लक्ष्य पर नजर

दुनिया की सबसे अनुशासित और ट्रेंड सेना की नजर हर वक्त लक्ष्य पर होती है। न वे कभी डिगते हैं और न झुकते हैं।

2020 में देश की रक्षा में कई जवानों ने दी शहादत

navbharat times

पिछले साल देस की रक्षा में कई जवानों ने अपना सर्वोच्च बलिदान दिया। पिछले साल देस की रक्षा में कई जवानों ने अपना सर्वोच्च बलिदान दिया।

कभी नहीं भूलेंगे ये बलिदान

navbharat times 1

जवानों के बलिदान को देश कभी नहीं भूलेगा। दिन हो या रात देश के जवान लगातार देश की सीमाओं की रक्षा में डटे रहते हैं।