केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर की टिप्पणी पर संसद में बवाल- महात्‍मा गांधी षडयंत्रकारी थे?

Webvarta Desk: राज्‍यसभा के बजट (Rajya Sabha Budget Session) पर चर्चा के दौरान गुरुवार को नाटकीय दृश्‍य दिखा! एक कांग्रेस सांसद ने महात्‍मा गांधी (Mahatma Gandhi) के लिए ‘आंदोलनजीवी’ (Andolanjeevi) शब्‍द का प्रयोग किया जिसपर वित्‍त राज्‍य मंत्री अनुराग ठाकुर (Anurag Thakur) ने टिप्‍पणी की। ठाकुर ने पूछा कि क्‍या राष्‍ट्रपति ‘षडयंत्रकारी’ थे? इसपर कांग्रेस सांसद वेल में चले गए।

दरअसल कांग्रेस के केसी वेणुगोपाल (KC Venugopal) ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) के ‘आंदोलनजीवी’ (Andolanjeevi) शब्‍द का प्रयोग करने का जिक्र किया। आंदोलनों की जरूरत बताते हुए वेणुगोपाल ने कहा है कि देश को अंग्रेजों से आजादी आंदोलनों के चलते ही मिली थी और इस तर्क से तो महात्‍मा गांधी (Mahatma Gandhi) सबसे बड़े ‘आंदोलनजीवी’ होते।

कांग्रेस सांसद के बोलने के बाद ठाकुर (Anurag Thakur) खड़े हुए और कहा, “मैंने कभी ये अपेक्षा नहीं की थी कि कांग्रेस का कोई सांसद और पदाधिकारी महात्‍मा को ‘षडयंत्रकारी’ कहेगा। इससे ज्‍यादा दुर्भाग्‍यपूर्ण बात नहीं हो सकती।” ठाकुर ने कहा कि महात्‍मा गांधी को ‘आंदोलनजीवियों’ से जोड़ना ठीक नहीं। उन्‍होंने ध्‍यान दिलाया कि प्रधानमंत्री ने बहुत स्‍पष्‍ट तरीके से ‘आंदोलनकारियों’ और ‘आंदोलनजीवियों’ के बीच का अंतर समझाया था।

चेयर के आश्‍वासन के बावजूद जारी रहा विरोध

कांग्रेस सांसदों ने ठाकुर (Anurag Thakur) की इस टिप्‍पणी का विरोध करते हुए कहा कि किसी ने गांधी को षडयंत्रकारी नहीं बताया। वे सदन के वेल में आकर ठाकुर से माफी मांगने की मांग करने लगे। पीठासीन भुवनेश्‍वर कलिता ने कहा कि वे रेकॉर्ड्स को देखेंगे और अगर कोई शब्‍द असंसदीय होगा तो उसे कार्यवाही से हटा देंगे लेकिन विरोध जारी रहा।

चिदंबरम ने भी कसा तंज

इससे पहले, कांग्रेस सांसद और पूर्व वित्‍त मंत्री पी चिदंबरम ने बजट को ‘‘अमीरों का, अमीरों के लिए और अमीरों द्वारा’’ बताया। उन्‍होंने कहा कि यह ‘गरीबों के लिए कुछ नहीं करता।’ उन्‍होंने बीजेपी पर तंज कसते हुए कहा कि “चूंकि हम असहमति जताते हैं, इसलिए आंदोलनजीवी और परजीवी कहे जाते हैं। परजीवी वे एक प्रतिशत लोग हैं जिनके नियंत्रण में भारत की 73 प्रतिशत संपदा है।” उन्‍होंने कहा कि ये बजट उन 1% लोगों के लिए ही है।