अन्ना हजारे की मोदी सरकार को चेतावनी- तुरंत हल हों किसानों की समस्याएं, नहीं तो करूंगा जन आंदोलन

Webvarta Desk: लोकपाल बिल (Lokpal Bill) को लेकर आवाज उठाने वाले सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे (Anna Hazare) अब किसानों के समर्थन (Farmers Protest) में उतर आए है।

अन्ना (Anna Hazare) ने किसानों के समर्थन में केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर (Narendra Singh Tomar) को पत्र लिखकर किसानों की मांग अनसुनी करने पर ‘जन आंदोलन’ शुरू करने की चेतावनी दी है। अन्ना हजारे ने कहा है कि यदि केंद्र सरकार किसानों का मुद्दा तुरंत हल नहीं करती तो वह भूख हड़ताल करेंगे।

अपने पत्र में लोकपाल आंदोलन का जिक्र करते हुए अन्ना हजारे (Anna Hazare) ने कहा कि तत्कालीन कांग्रेस सरकार को ‘लोकपाल आंदोलन’ के दौरान हिला दिया था। मैं इन किसानों के विरोध को उसी तर्ज पर देखता हूं।

अन्ना ने कहा कि किसानों द्वारा किए गए भारत बंद के दौरान मैंने अपने गांव रालेगांव सिद्धि में एक दिन का उपवास किया था। किसानों की मांगों पर मेरा पूरा समर्थन है। अन्ना ने कहा कि किसी देश में किसान के खिलाफ कोई कानून पास नहीं किया जा सकता है, जो उनके खिलाफ हो। अगर सरकार ऐसा करती है, तो इसके खिलाफ आंदोलन सही है।

गौरतलब है कि पिछले कुछ महीनों में मुख्य रूप से पंजाब और हरियाणा के हजारों किसान तीन नए कृषि कानूनों का विरोध कर रहे हैं। उनका कहना है कि हाल के दिनों में संसद में पारित किए गए तीनों कानूनों को रद किया जाए।

किसानों ने 8 दिसंबर को भारत बंद का आह्वान किया था। 12 दिसंबर को हाईवे बंद करने का आह्वान किया था। 14 दिसंबर को जिला मुख्यालयों पर धरना और किसान नेताओं ने एक दिन की भूख हड़ताल की।