अन्ना हजारे ने बढ़ाई मोदी सरकार परेशानी, कृषि कानून के खिलाफ किसानों के आंदोलन का बनेंगे हिस्सा

Webvarta Desk: देश की राजधानी दिल्ली में पिछले 32 दिनों से कृषि कानूनों (Farms Law) के खिलाफ किसानों का धरना (Farmers Protest) जारी है। इस बीच वरिष्ठ समाजसेवी अन्ना हजारे (Anna Hazare) ने भी कृषि कानून के खिलाफ आंदोलन करने का फैसला किया है।

अन्ना हजारे (Anna Hazare) ने जनवरी के अंतिम सप्ताह में दिल्ली के जंतर मंतर मैदान में आंदोलन (Anna Hazare Protest Against Farms Law) करने की अनुमति मांगी है।

पत्रकारों से बातचीत के दौरान अन्ना ने यह जानकारी दी। बता दें कि अन्ना हजारे का यह आंदोलन दिल्ली में चल रहे किसानों के समर्थन में होगा। अन्ना हजारे ने कहा था कि उनका आखिरी आंदोलन किसानों के सवाल के लिए होगा।

बता दें कि सभी की नजर कृषि कानून के खिलाफ चल रहे आंदोलन में अन्ना हजारे की भूमिका पर थीं। महाराष्ट्र के पूर्व विधानसभा अध्यक्ष व बीजेपी नेता हरिभाऊ बागडे और पूर्व केबिनेट मंत्री गिरीश महाजन ने अन्ना हजारे से मुलाकात की थी, ताकि उन्हें आंदोलन में शामिल होने से रोका जा सके।

हालांकि अब अन्ना हजारे ने किसानों को समर्थन देने का फैसला कर लिया है। अब देखना दिलचस्प होगा कि सरकार की तरफ से अन्ना को जंतर-मंतर पर आंदोलन की अनुमति मिलती है या नहीं।