‘नकली अयोध्या’ पर भड़का अखाड़ा परिषद, साधू-संत बोले- ओली को कुर्सी से उतार देंगे

New Delhi: नेपाल के प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली (KP Sharma Oli on Ayodhya) की ओर से भगवान राम और अयोध्या पर की गई विवादित टिप्पणी का मामला तूल पकड़ लिया है।

भारत में संतों की सर्वोच्च संस्था अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद (Akhada Parishad) ने नेपाल के पीएम के बयान पर आपत्ति करते हुए विशाल प्रदर्शन की चेतावनी दी है। इसके अलावा अखाड़ा परिषद ने नेपाल की सड़कों पर प्रदर्शन का ऐलान भी किया है।

नेपाल के पीएम केपी शर्मा ओली के विवादित बयान पर अखाड़ा परिषद (Akhada Parishad) के मंहत नरेन्द्र गिरि ने प्रतिक्रिया दी है। महंत नरेंद्र गिरि ने कहा कि कल से नेपाल में हमारे लाखों शिष्य सड़कों पर उतर एक महीने के भीतर ओली को पीएम की कुर्सी से उतार देंगे।

भारत में ही अयोध्या: नरेंद्र गिरि

महंत नरेंद्र गिरि ने कहा कि नेपाल हिन्दू राष्ट्र था। लेकिन जब से वहां माओवादियों का शासन आया है तब से चीजें बिगड़ रही हैं। पहले ये माओवादी थे लेकिन अब आतंकवादी होते जा रहे हैं।

नरेंद्र गिरि ने ये भी कहा कि असली अयोध्या भारत में है और इसी अयोध्या ने दुनिया का नेतृत्व किया है। नेपाल के पीएम ने जो बयान दिया है, वह निंदनीय है और इसके लिए उन्हें माफी मांगनी चाहिए।

भगवान राम के जन्मस्थान को लेकर की विवादित टिप्पणी

नेपाल के प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली ने भगवान राम के जन्मस्थान को लेकर विवादित टिप्पणी की थी। इसके बाद ओली अपने ही घर पर घिर गए हैं। नेपाल के कई नेताओं ने खुलकर ओली के इस बयान का विरोध किया है।

सोमवार को उन्होंने दावा किया कि भारत ने सांस्कृतिक अतिक्रमण के लिए नकली अयोध्या का निर्माण किया है। जबकि, असली अयोध्या नेपाल में है।

ओली पहले कह चुके हैं कि भारत उनको सत्ता से हटाने की साजिश रच रहा है। ओली ने सवाल किया कि उस समय आधुनिक परिवहन के साधन और मोबाइल फोन (संचार) नहीं था तो राम जनकपुर तक कैसे आए?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *