metro

मेट्रो ट्रेन से सफर में इन नियमों का रखना होगा ध्यान, जानें गाइडलाइंस की 10 बड़ी बातें

New Delhi: 22 मार्च से बंद मेट्रो ट्रेनें अब पटरी पर दौड़ने को तैयार हैं। इस दौरान यात्रियों से लेकर मेट्रो मैनेजमेंट के लिए किन-किन नियमों (SOPs and Guidelines for Metro Operations) का पालन करना होगा, उसका दिशा-निर्देश जारी किया जा चुका है।

30 अगस्त को अनलॉक 4.0 की गाइडलाइंस में ही देश में 7 सितंबर से मेट्रो ट्रेनें चलाने का रास्ता साफ हो गया था। चूंकि कोरोना वायरस का खतरा अब भी कम नहीं हुआ है, ऐसे में पांच महीने बाद मेट्रो ट्रेनें को पहले की तरह ही बिना शर्त नहीं चलाया जा सकता है। यही वजह है कि केंद्रीय शहरी विकास मंत्री हरदीप सिंह पुरी (Hardeep Singh Puri) सभी मेट्रो कॉर्पोरेशनों के प्रबंध निदेशकों (MD) के साथ गहन विचार-विमर्श किया।

आइए जानते हैं कि मेट्रो संचालन की मानक संचालन प्रक्रिया और दिशानिर्देश (SOPs and Guidelines for Metro Operations) में कहीं गईं 10 प्रमुख बातें…

  • मेट्रो सेवाओं की बहाली की समीक्षा होगी। अगर भीड़भाड़ में सोशल डिस्टेंसिंग का सही से पालन नहीं होता है तो मेट्रो चलाने के फैसले की समीक्षा की जा सकती है।
  • देशभर की सभी मेट्रो सेवाएं एक साथ नहीं शुरू होंगी। देश के अलग-अलग हिस्सों में चरणबद्ध तरीके से मेट्रो सेवाएं शुरू हो रही हैं। जिन मेट्रो में एक से ज्यादा लाइने हैं, वह 7 सितंबर से शुरू हो जाएंगी। 12 सितंबर तक सभी लाइनें शुरू हो जाएंगी।
  • कंटेनमेंट जोन्स में स्थित मेट्रो स्टेशनों पर एन्ट्री और एग्जिट गेट बंद रहेंगे। साथ ही ट्रेनों की फ्रीक्वेंसी ऐसी रखी जाएगी ताकि भीड़ न हो।
  • मेट्रो स्टेशन पर एंट्री के समय थर्मल स्क्रीनिंग की जाएगी। स्क्रीनिंग में अगर कोई सिम्प्टोमैटिक व्यक्ति पाया जाता है तो उसे नजदीकी कोविड केयर सेंटर, अस्पताल पहुंचाया जाएगा ताकि उसकी जांच हो।
  • मेट्रो स्टेशन के एंट्री गेट पर यात्रियों को हाथ सैनिटाइज करने के लिए सैनिटाइजर मिलेगा। इसके अलावा जिन-जिन जगहों तक लोग जाते हैं, उन सबका सैनिटाइजेशन होगा। ट्रेन, एस्कलेरेटर, हैंड रेल, लिफ्ट, टाइलट वगैरह को सैनिटाइज किया जाएगा।
  • मेट्रो में यात्रा करने लिए टोकन के इस्तेमाल के स्थान पर स्मार्ट कार्ड और कैशलेस ऑनलाइन ट्रांजैक्शन को प्रोत्साहित किया जाएगा।
  • हर स्टेशन पर मेट्रो नहीं रुकेगी। मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन बीच-बीच में कुछ स्टेशनों पर ट्रेनों को नहीं ठहराएंगी ताकि भीड़ न हो। किस स्टेशन पर ट्रेन को रोकना है और किस पर नहीं, इसका फैसला मेट्रो कंपनियां करेंगी।
  • सोशल डिस्टेंसिंग को सुनिश्चित करने के लिए मेट्रो स्टेशन और ट्रेन के भीतर निशान बनाए जाएंगे। इन निशानों का ध्यान रखते हुए ही लोगों को यात्रा करनी होगी।
  • सरकार ने मेट्रो में यात्रा करने के लिए आरोग्य सेतु ऐप को अनिवार्य नहीं किया है, लेकिन सरकार इसके उपयोग के लिए करेगी लोगों को प्रोत्साहित करेगी।
  • केंद्रीय शहरी विकास मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने लोगों को सुझाव दिया है कि वे कम से कम सामान के साथ मेट्रो में यात्रा करें। इसके साथ ही उन्होंने कहा है कि यात्री मेटल के सामान को लेकर यात्रा करना अवाइड करें जिससे कि आसानी से स्क्रीनिंग की जा सके।
दिल्ली में स्टेज वाइज शुरू होगी मेट्रो

दिल्ली में पहले स्टेज में मेट्रो सुबह 7 बजे से 11 बजे तक और शाम को 4 बजे से 8 बजे तक चलेगी। पहले स्टेज के पहले फेज में रेपिड मेट्रो और लाइन-2 (येलो लाइन) को 7 सितंबर से शुरू किया जाएगा। फेज 2 में 9 सितंबर से लाइन 3 (ब्लू लाइन- द्वारका सेक्टर 21 से नोएडा इलेक्ट्रोनिक सिटी), लाइन 4 (ब्लू लाइन- आनंद विहार से वैशाली) और लाइन 7 (पिंक लाइन) शुरू की जाएंगी।

स्टेज-1 के तीसरे फेज में 10 सितंबर से लाइन 1 (रेड लाइन), लाइन 5 (ग्रीन लाइन) और लाइन 6 (वॉयलेट लाइन) को शुरू किया जाएगा। वहीं स्टेज-2 में 11 सितंबर से मेट्रो सुबह 7 बजे से दोपहर 11 बजे तक, और शाम 4 बजे से 10 बजे तक चलेगी। स्टेज-2 में लाइन-8 (मजेंटा लाइन) और लाइन-9 (ग्रे लाइन) को भी खोल दिया जाएगा।

वहीं स्टेज-3, 12 सितंबर से लागू होगा, जिसमें दिल्ली मेट्रो सुबह 6 बजे से रात 11 बजे तक चलेगी। इस दौरान एयरपोर्ट एक्सप्रेस लाइन को भी शुरू कर दिया जाएगा। इसके साथ ही दिल्ली मेट्रो में यात्रा के लिए स्मार्ट कार्ड अनिवार्य होगा।

मुंबई में फिलहाल नहीं चलेगी मेट्रो

महाराष्ट्र सरकार ने फैसला किया है कि सितंबर महीने में मेट्रो का संचालन नहीं किया जाएगा। इसलिए मुंबई मेट्रो और महा मेट्रो नागपुर की सेवा 1 अक्टूबर से शुरू होगी। इसके लिए क्या नियम होंगे, और इसका परिचालन कैसे होगा, इसकी जानकारी बाद में दी जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *