दिल्ली वाले ध्यान दें! फेस्टिव सीजन का मजा हो सकता है किरकिरा, रोजाना 4 घंटे तक हो सकती है बिजली कटौती

दिल्ली वाले ध्यान दें! फेस्टिव सीजन का मजा हो सकता है किरकिरा, रोजाना 4 घंटे तक हो सकती है बिजली कटौती

हाइलाइट्स

  • कुछ दिनों में पावर कट की समस्या से जूझना पड़ सकता है
  • बिजली वितरण कंपनियों को डिमांड के अनुसार बिजली नहीं मिल पा रही है
  • टाटा पावर (डीडीएल) ने बिजली डिमांड पूरा करने से हाथ खड़े कर दिए हैं

नई दिल्ली
नॉर्थ दिल्ली और बाहरी दिल्ली में रहने वाले लोगों को अगले कुछ दिनों में पावर कट की समस्या से जूझना पड़ सकता है। ऐसा इसलिए कि कोयले की कमी के चलते बिजली उत्पादन कंपनियों से बिजली वितरण करने वाली कंपनियों को पिछले कुछ दिनों से डिमांड की तुलना में कम ही पावर मिल रही हैं। ऐसे में बाहरी दिल्ली में पावर सप्लाई करने वाली बिजली वितरण कंपनी टाटा पावर (डीडीएल) ने बिजली डिमांड पूरा करने से हाथ खड़े कर दिए हैं।

कंपनी के अधिकारियों ने ट्वीट कर घोषणा की है कि दोपहर 2 बजे से 6 बजे तक नॉर्थ दिल्ली और बाहरी दिल्ली के इलाकों में पावर सप्लाई की समस्या हो सकती है। दिल्ली के एक बड़े भाग में बिजली सप्लाई करने वाली कंपनी बीईएसईएस ने इस मामले में चुप्पी साध ली है।

navbharat timesराजधानी पर भी बिजली संकट का साया, टाटा पावर ने लोगों को भेजा मेसेज- संभालकर इस्‍तेमाल करें
टाटा पावर (डीडीएल) के सीनियर अधिकारियों के अनुसार देश में 70 प्रतिशत बिजली उत्पादन थर्मल पावर से होता है, जिसके लिए कोयले की जरूरत होती है, लेकिन कोयला खदानों में बारिश के चलते पानी भर गया है, जिससे थर्मल प्लांटों में पर्याप्त मात्रा में कोयले की सप्लाई नहीं हो रही है। जिससे बिजली उत्पादन प्रभावित हो रहा है और बिजली वितरण कंपनियों को डिमांड के अनुसार बिजली नहीं मिल पा रही है।

navbharat timesPower Crisis : अभूतपूर्व बिजली संकट के मुहाने पर खड़ा देश, दिल्ली, यूपी समेत कई राज्यों में छा सकता है ‘अंधेरा’, समझें कितना बड़ा है खतरा
पिछले 2-3 दिनों से यह समस्या अधिक है। इसलिए बिजली वितरण कंपनियो को आगे बिजली सप्लाई करने में दिक्कतें आ रही हैं। अगले कुछ दिनों में समस्या का समाधान नहीं होता है, तो रोटेशन के आधार पर बिजली कटौती भी करनी पड़ सकती है। सबसे अधिक बिजली की डिमांड दोपहर 2 बजे से शाम 6 बजे के बीच होती है और इस समय उतनी बिजली सप्लाई करना मुश्किल होगा।

navbharat times18 महीने में ज्योतिरादित्य सिंधिया को चार प्रमोशन, ‘रॉकेट’ की तरह बीजेपी में बढ़ रहा कद… शिवराज को खतरा?
टाटा पावर ने बुराड़ी के कुछ उपभोक्ताओ को एसएमएस भेज कर जरूरत के हिसाब से ही बिजली खपत करने की बात कही है। इसके अलावा नरेला इंडस्ट्रियल एरिया में भी टाटा पावर ने उपभोक्ताओं को मैसेज कर कोयले के शॉर्टेज के बारे में बताया है और जरूरत के हिसाब से ही बिजली खपत करने की बात कही है।

navbharat timesदिल्ली वालों को करना पड़ सकता है गंभीर बिजली संकट का सामना, सीएम केजरीवाल ने लिखी पीएम मोदी को चिट्ठी
सप्लाई 330 मेगावॉट से कम

शुक्रवार की तुलना में शनिवार को सप्लाई 330 मेगावॉट से कम रही। शुक्रवार को अधिकतम लोड 4920 मेगावॉट था। अगले दिन शनिवार को सप्लाई 4586 मेगावॉट रही। बिजली वितरण कंपनियों का कहना है कि दिल्ली के बिजली उत्पादन प्लांटों से अभी सिर्फ 1248 मेगावॉट बिजली ही मिल रही है। बाकी बिजली दूसरे राज्यों के प्लांटों से ली जा रही है। लेकिन, कोयले का स्टॉक इन प्लांटों तक अगले एक या दो दिनों में नहीं पहुंचता है तो इतनी बिजली भी नहीं मिलेगी और तब समस्या खड़ी हो जाएगी।

Power Crisis In India : देश में गहराया गंभीर बिजली संकट, जानिए यूपी समेत उत्तर भारत के राज्यों का हाल

सांकेतिक तस्वीर

सांकेतिक तस्वीर