तीनों कृषि काला कानून तथा किसानों के समर्थन में भारत बंद ऐतिहासिक रूप से सफल रहा:- जगदानन्द सिंह

पटना, 27 सितंबर (वेब वार्ता/ जितेश कुमार)। राष्ट्रीय जनता दल के प्रदेश अध्यक्ष जगदानन्द सिंह के नेतृत्व में किसानों के भारत बंद के समर्थन में राजद तथा महागठबंधन के नेताओं ने हजारों की संख्या में पटना के बुद्धा स्मृति पार्क से विशाल प्रदर्शन करते हुए पटना के विभिन्न मार्गों से होता हुआ जुलुस डाकबंगला चौराहा पर पहँुचा।
इस अवसर पर अपने सम्बोधन में प्रदेश अध्यक्ष जगदानन्द सिंह ने कहा कि किसान पिछले दस माह से सड़कों पर बैठे हुए है, लेकिन भाजपा सरकार इनकी बातो को सुन नहीं रही है। आज कार्पोरेट घराने के माध्यम से देश के सभी परिसंम्पतियों को बेचा जा रहा है। और देश के हितो के साथ खिलवाड़ हो रहा है। हद तो यह कि अब अन्नदाता के खेत और खलिहान को भी अडानी और अम्बानी के हाथों बेचने की काला कानून लाकर इसके माध्यम से बेचने की तैयारी चल रही है। नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी प्रसाद यादव के आहृवाहन पर जिस तरह से आज भारत बंद में बिहार के किसान, दुकानदार, मजदूर, छात्र, नौजवान और सभी बस और टेम्पु चालको ने बन्दी में साथ दिया, यह ऐतिहासिक रूप से सफल रहा। इस ऐतिहासिक बंद के लिए सभी नेता कार्यकर्ता और आम अवाम को बधाई देता हुँ। साथ ही केन्द्र सरकार को चेतावनी दी है कि अविलंब काला कानून को वापस ले अन्यथा सड़क से लेकर सदन तक निरंतर आन्दोलन चलता रहेगा।
इस अवसर पर ऐतिहासिक बंद में राजद के राष्ट्रीय प्रधान महासचिव अब्दुलबारी सिद्दीकी, राष्ट्रीय महासचिव जयप्रकाश नारायण यादव, श्याम रजक, भोला यादव, प्रदेश प्रधान महासचिव आलोक कुमार मेहता, पूर्व मंत्री शिवचन्द्र राम, डॉ. दाउद अली अंसारी, जावेद इकबाल अंसारी, प्रदेश के मुख्य प्रवक्ता भाई विरेन्द्र, विधायक रीतलाल यादव, युसुफ सलाउद्दीन, प्रदेश प्रवक्ता एजाज अहमद, मृत्युजंय तिवारी, श्रीमति सारीका पासवान, प्रशांत कुमार मंडल, प्रदेश कार्यालय सचिव चन्देश्वर प्रसाद सिंह, प्रदेश उपाध्यक्ष विरेन्द्र कुशवाहा, प्रदेश महासचिव, मदन शर्मा, फैयाज आलम कमाल, डॉ. प्रेम कुमार गुप्ता, निराला यादव, डॉ. कुमार राहुल सिंह, संजय यादव, बल्ली यादव, भाई अरूण, खुरसीद आलम सिद्दीकी, ई. अशोक यादव, सतीश गुप्त, प्रो. कुमार चन्द्रदीप, निर्भय अम्बेदकर, धर्मेन्द्र कुमार पटेल, संजीव राय, प्रमोद कुमार राम, बिनोद यादव, गुलाम रब्बानी, केडी यादव, श्याम नन्दन कुमार यादव, किसान प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष सुबोध कुमार यादव, प्रदेश अध्यक्ष महिला प्रकोष्ठ डॉ. उर्मिला ठाकुर, अनुसूचित जाति/जन जाति के प्रदेश अध्यक्ष अनिल कुमार साधु, छात्र राजद के प्रदेश अध्यक्ष गगन कुमार यादव, पंचायती राज प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष महेन्द्र सिंह विद्यार्थी, नगर निकाय प्रकोष्ठ के प्रदेश राजेश कुमार पाल, ग्रामीण शिल्प कला प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष उमेश पंडित, पटना जिलाध्यक्ष देवमुनी सिंह यादव, महानगर अध्यक्ष महताब आलम, राजद नेता राजेश यादव, प्रमोद कुमार सिन्हा, उदय प्रताब सिंह यादव, अभिशेक कुमार यादव, युवा राजद के प्रदेश प्रवक्ता अरूण कुमार यादव, युवा राजद के प्रदेश सचिव जेम्स यादव, पंकज यादव, अशोक यादव, प्रदीप मेहता, रजनीश राय, सतीश कुमार चन्द्रवंशी, मृत्युंजय कुमार यादव, अफरोज आलम, मुस्ताक अहमद, रिंकु यादव, रामदयाल मेहता, पृथ्वी राज चौहान, शशि रंजन, राजू यादव, मनोज यादव सहित हजारों के संख्या में लोग शामिल थे।
प्रवक्ता एजाज अहमद ने बताया की सभी नेता और कार्यकर्ता तीनों कृषि काला कानून की वापसी की मांग तथा कार्पाेरेट घराने के इसारे पर चलने वाली सरकार के खिलाफ गगन चुम्बी नारे लगाते हुए चल रहे थे।