कोयला क्राइसेस पर सिसोदिया ने केंद्र को घेरा, ऑक्सीजन संकट की तरह समाधान से भाग रही सरकार

कोयला क्राइसेस पर सिसोदिया ने केंद्र को घेरा, ऑक्सीजन संकट की तरह समाधान से भाग रही सरकार

नई दिल्ली
केंद्र सरकार भले ही कोयला आपूर्ति को लेकर आश्वस्त नजर आ रही हो, मगर विपक्ष ने कोयला संकट को मुद्दा बनाकर केंद्र पर हमला शुरू कर दिया है। दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने रविवार को कहा कि केंद्र कोयला संकट होने की बात स्वीकार करने के लिए तैयार नहीं है और हर समस्या के प्रति आंखें मूंद लेने की उसकी नीति देश के लिए घातक साबित हो सकती है।

सिसोदिया ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, ‘केंद्रीय मंत्री आर के सिंह ने आज कहा कि कोयला संकट नहीं है और मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को इस मुद्दे पर प्रधानमंत्री (नरेंद्र मोदी) को एक पत्र नहीं लिखना चाहिए था। यह दुखद है कि केंद्रीय कैबिनेट मंत्री ने इस तरह गैर जिम्मेदाराना रुख अपनाया है।’ उन्होंने कहा कि यह स्पष्ट रूप से दर्शाता है कि केंद्र सरकार संकट से ‘दूर भागने’ के लिए बहाने बना रही है।

navbharat timesकोयले की कमी, बिजली कटौती, पीएम से गुहार लगाते सीएम… लेकिन ऊर्जा मंत्री बोले- सब चंगा सी
सिसोदिया ने कहा, ‘उन्होंने उस वक्त भी यही चीज किया था जब देश ऑक्सीजन की कमी से जूझ रहा था। उन्होंने यह स्वीकार नहीं किया था कि ऐसा कोई संकट है। इसके बजाय वे राज्यों को गलत साबित करने की कोशिश करते हैं।’