एक बार फिर पुरानी रंगत में लौटेगा ट्रेड फेयर, आम लोगों को मिलेगी एंट्री

एक बार फिर पुरानी रंगत में लौटेगा ट्रेड फेयर, आम लोगों को मिलेगी एंट्री

 

नई दिल्ली। इंडियन ट्रेड प्रमोशन ऑर्गेनाइजेशन (आईटीपीओ) को प्रगति मैदान में एग्जीबिशन और फेयर बी2सी (बिजनेस टू कस्टमर) सिस्टम से आयोजन की इजाजत मिलने से बड़ी राहत महसूस की जा रही है। अब आईटीपीओ के प्रोग्राम देखने आम पर्यटक भी पहले की तरह आ सकते हैं। इसकी शुरुआत इंडिया इंटरनेशनल ट्रेड फेयर से हो रही है। 14 नवंबर से आयोजित होने वाले इस 14 दिवसीय बहुचर्चित ट्रेड फेयर में आम पर्यटक भी शामिल होंगे।

दिल्ली के प्रगति मैदान में सिक्योरिटी एक्सपो का होगा अक्टूबर में आयोजन
कोरोना के कारण पिछले साल 40वां इंडिया इंटरनेशनल ट्रेड फेयर का आयोजन कैंसिल हो गया था। उसके बाद हुए आयोजन में बी2बी सिस्टम अपनाया गया था। इसमें केवल बिजनेसमैन ही एग्जीबिशन को देखने आ सकते थे। आम पर्यटकों को टिकट खरीद कर मेला देखने आने की इजाजत नहीं थी। शुक्रवार को इंडिया इंटरनेशनल ट्रेड फेयर के आयोजन की आधिकारिक घोषणा कर दी गई है। आईटीपीओ के प्रवक्ता ने बताया कि ट्रेड फेयर में भागीदारी बनाने के लिए देश-विदेश की अनेक कंपनियों के आवेदन उत्साह के साथ आ रहे हैं। आईटीपीओ के एक अधिकारी ने बताया कि अभी विदेशी कंपनियों की भागीदारी पिछले आयोजनों की तुलना में थोड़ा कम है। उम्मीद है कि आम पर्यटकों को एग्जीबिशन देखने की इजाजत मिलने के बाद विदेशी कंपनियों की भागीदारी तेजी से बढ़ेगी।

17 महीने बाद आयोजित होगा प्रगति मैदान पर ITPO का कोई एक्सपो
मेले का शीर्षक ‘आत्मनिर्भर भारत’ है। इसके तहत देश की अर्थव्यवस्था, निर्यात क्षमता और इंफ्रास्ट्रक्चर सप्लाई चैन पर फोकस किया जाएगा। 14 से 27 नवंबर तक आयोजित होने वाले मेला के पहले 5 दिन बिजनेसमैन के लिए रिजर्व रहेंगे। उनके लिए सुबह 9:30 बजे से शाम 7:30 बजे तक का समय रहेगा। उसके बाद सामान्य जनता टिकट खरीद कर सुबह 10 बजे से शाम 5:30 बजे तक मेला का आनंद ले सकती हैं। मेले के लिए हॉल नंबर 2 से 5, 7 से 8, 11 से 12 और 12ए रिजर्व रखे गए हैं। जरूरत पड़ने पर मेले का क्षेत्र बढ़ाया जा सकता है। ट्रेड फेयर में इंडिया इंटरनेशनल एग्जीबिशन कम कन्वेंशन सेंटर (आईआईईसीसी) के नए हॉल का भी इस्तेमाल किया जाएगा।