Jeo Biden

उम्मीद है सीनेट अन्य महत्वपूर्ण मामलों पर काम करते हुए महाभियोग की सुनवाई करेगी: बाइडन

वाशिंगटन (वेबवार्ता)। अमेरिका के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडन ने यूएस कैपिटल में पिछले सप्ताह हुई हिंसा की घटना को पहले से नियोजित आपराधिक गतिविधि बताया और उम्मीद जताई कि सीनेट अन्य अहम मामलों पर काम करते हुए देश के निवर्तमान राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के खिलाफ महाभियोग की सुनवाई करेगी। प्रतिनिधि सभा ने ट्रंप के खिलाफ महाभियोग प्रस्ताव पारित कर दिया है।

ट्रंप पहले ऐसे अमेरिकी राष्ट्रपति बन गए हैं, जिनके खिलाफ दो बार महाभियोग चलाया जा रहा है। डेमोक्रेटिक नेता बाइडन ने बुधवार को आरोप लगाया कि यह हिंसा उन राजनीतिक अतिवादियों और घरेलू आतंकवादियों ने की, जिन्हें ट्रंप ने भड़काया था।

उन्होंने रिपब्लिकन नेता ट्रंप के खिलाफ प्रतिनिधि सभा में महाभियोग प्रस्ताव पारित किए जाने के बाद एक बयान में कहा, ‘‘यह आपराधिक हमला पहले से नियोजित और समन्वित था। इसे उन राजनीतिक अतिवादियों और घरेलू आतंकवादियों ने अंजाम दिया, जिन्हें ट्रंप ने भड़काया था। यह अमेरिका के खिलाफ हथियारबंद राजद्रोह था और इसके लिए जिम्मेदार लोगों को जवाबदेह बनाया जाना चाहिए।’’

बाइडन ने कहा, ‘‘पिछले सप्ताह हमारे लोकतंत्र पर अप्रत्याशित हमला हुआ। हमने अपने देश के 244 वर्ष के इतिहास में ऐसा पहले कभी नहीं देखा।’’ उन्होंने कहा कि प्रतिनिधि सभा के सदस्यों ने अमेरिकी संविधान के तहत उन्हें मिले अधिकार का इस्तेमाल किया और राष्ट्रपति को जवाबदेह बनाने एवं उनके खिलाफ महाभियोग चलाने के लिए मतदान किया।

बाइडन ने कहा, ‘‘हमारा देश कोरोना वायसर महामारी से जूझ रहा है और अर्थव्यवस्था पर इसका असर पड़ा है। मुझे उम्मीद है कि सीनेट का नेतृत्व इस देश के लिए आवश्यक मामलों पर काम करते हुए महाभियोग की सुनवाई करेगा।’’ डेमोक्रेटिक नेताओं के नियंत्रण वाली अमेरिकी प्रतिनिधि सभा ने पिछले सप्ताह कैपिटल बिल्डिंग (अमेरिकी संसद भवन) में हुई हिंसा के मद्देनजर अमेरिका के निवर्तमान राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के खिलाफ महाभियोग प्रस्ताव पारित कर दिया।

इसके साथ ही ट्रंप अमेरिका के इतिहास में पहले ऐसे राष्ट्रपति बन गए हैं, जिनके खिलाफ दो बार महाभियोग चलाया जा रहा है। इस प्रस्ताव को 197 के मुकाबले 232 मतों से पारित किया था। रिपब्लिकन पार्टी के भी 10 सांसदों ने इसके समर्थन में मतदान किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *