भिखमंगे पाकिस्तान को मुश्किल वक्त में आई भारत की याद… मिलेगी भारतीय वैक्सीन की 4.5 करोड़ डोज

Webvarta Desk: दुनिया के हर मंच पर भारत का विरोध करने वाले पाकिस्तान (Pakistan To Receive Indian Covid-19 Vaccines) को आखिरकार दिल्ली से ही मदद मिलने जा रही है।

पाकिस्तान को आने वाले समय में वैक्सीन (Pakistan To Receive Indian Covid-19 Vaccines) अलायंस GAVI के जरिए मेड इन इंडिया कोरोना वैक्सीन के 4.5 करोड़ डोज दिए जाएंगे। इससे इमरान खान संक्रमण से जूझ रही अपने अवाम की एक बड़ी आबादी को कोरोना के खिलाफ इम्यून कर पाएंगे।

पाकिस्तानी मंत्री ने की पुष्टि

पाकिस्तान के राष्ट्रीय स्वास्थ्य सेवा के सचिव आमिर अशरफ ख्वाजा ने बताया कि देश को भारत में बनी हुई कोरोना वैक्सीन (Pakistan To Receive Indian Covid-19 Vaccines) की खुराक इस महीने से मिलने मिलेगी। ख्वाजा ने कहा कि अब तक पाकिस्तान में 27.5 मिलियन लोगों को कोरोना की वैक्सीन दी गई है। इनमें फ्रंट लाइन वर्कर और वरिष्ठ नागरिक शामिल हैं।

65 देशों को भारत ने दी कोविड-19 वैक्सीन

भारत दुनियाभर के करीब 65 देशों को कोविड-19 वैक्सीन की आपूर्ति कर रहा है। इनमें से कई देश ऐसे हैं जिन्हें फ्री में कोरोना वैक्सीन की डोज दी गई है, जबकि कुछ ने इसके लिए भुगतान किया है। भारत ने श्रीलंका, भूटान, मालदीव, बांग्लादेश, नेपाल, म्यांमार और सेशेल्स को अनुदान सहायता के तहत फ्री में लगभग 56 लाख कोरोनो वायरस के टीके प्रदान किए हैं।

इन देशों को वैक्सीन सप्लाई कर रहा भारत

बांग्लादेश, म्यांमार, नेपाल, भूटान, मालदीव, मॉरीशस, सेशेल्स, श्रीलंका, बहरीन, ब्राजील, मोरक्को, ओमान, मिस्र, अल्जीरिया, दक्षिण अफ्रीका, कुवैत, संयुक्त अरब अमीरात, अफगानिस्तान, बारबाडोस, डोमिनिका, मैक्सिको, डोमिनिकन गणराज्य, सऊदी अरब, सऊदी अरब अल साल्वाडोर, अर्जेंटीना, सर्बिया, संयुक्त राष्ट्र के स्वास्थ्य कार्यकर्ता, मंगोलिया, यूक्रेन, घाना, आइवरी कोस्ट, सेंट लूसिया, सेंट किट्स एंड नेविस, सेंट विंसेंट और ग्रेनेडाइंस, सूरीनाम, एंटीगुआ और बारबुडा, डीआर कांगो, अंगोला, गाम्बिया, नाइजीरिया , कंबोडिया, केन्या, लेसोथो, रवांडा, साओ टोम एंड प्रिंसिप, सेनेगल, ग्वाटेमाला, कनाडा, माली, सूडान, लाइबेरिया, मलावी, युगांडा, गुयाना, जमैका, यूनाइटेड किंगडम, टोगो, जिबूती, सोमालिया, सेरा लियोन, बेलीज, बोत्सवाना, बोत्सवाना, मोजांबिक, इथियोपिया और ताजिकिस्तान।

भारत में सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया और भारत बायोटेक वैक्सीन का उत्पादन कर रही हैं। इसमें से सीरम इंस्टीट्यूट कोविशील्ड नाम की वैक्सीन बना रहा है, जबकि भारत बायोटेक स्वदेशी कोवैक्सीन का उत्पादन कर रही है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी कुछ दिनों पहले स्वदेशी कोवैक्सीन का डोज लगवाया था।