भारत के राफेल से पाकिस्तान की हालत ख’राब, चीन से मांगी मिसा’इलें और फाइ’टर जेट

New Delhi: भारतीय वायुसेना (Indian AirForce) में राफेल जेट (Rafale) के शामिल होने से पाकिस्तान बु’री तरह घब’राया हुआ है। पाकिस्तान के ड’र का अंदाजा इससे ही लगाया जा सकता है कि वह अभी से अपने सदाबहार दोस्त चीन से मिसा’इल और फाइ’टर जेट देने की मिन्नतें करने लगा है।

पाकिस्तानी एयरफोर्स (Pakistan Airforce) ने चीन से 30 की संख्या में J-10CE फाइ’टर जेट और आधुनिक एयर टू एयर मिसा’इल की मांग की है।

10 साल पहले ही पाक ने मांगा था यह फा’इटर

पाकिस्तान ने साल 2009 में ही चीन से J-10CE फाइ’टर जेट की मांग की थी। लेकिन, तब चीन और पाकिस्तान ने जेएफ-17 फाइ’टर जेट बनाने का काम शुरू कर दिया। इसके कारण यह डील परवान न चढ़ सकी। अब भारत के पास राफेल (Rafale) आने के बाद इस डील को लेकर पाकिस्तान और चीन के बीच फिर बातचीत शुरू हो गई है।

इन फाइ’टर जेट और मिसा’इलों को खरीद रहा है पाक

पाकिस्तान ने चीन से जे -10 CE ल’ड़ा’कू विमानों के अलावा हवा से हवा में मा’र करने वाली शार्ट रेंज की पीएल-10 और लंबी दूरी की पीएल-15 मिसा’इलों की डिमांड भी की है। चीन ने इसी जहाज को भारत के खिलाफ होटान एयरबेस पर तैनात किया है। अमेरिका से भारत की बढ़ती करीबी के कारण पाकिस्तान के पास अब आधुनिक हथियारों के लिए चीन का ही सहारा है।

कितना शक्तिशाली है चीन का जे-10

चीन का चेंगदू जे-10CE पीपुल्स लिबरेशन आर्मी एयर फोर्स के J-10 फाइ’टर जेट का निर्यात संस्करण है। यह एक मल्टीरोल फाइ’टर एयरक्राफ्ट है, जो किसी भी मौसम में उड़ान भर सकता है। वजन में हल्का होने के कारण इस फाइ’टर जेट को ऊंचाई वाले इलाकों में भी आसानी से ऑपरेट किया जा सकता है। एक बार में यह विमान 1,850 किलोमीटर उड़ान भर सकता है। इसकी अधिकतम स्पीड मैक 1.8 है।

राफेल ही नहीं, इन मिसा’इलों से पाक की चिं’ता बढ़ी’

पाकिस्तान केवल भारत के राफेल ल’ड़ा’कू विमानों से परे’शान नहीं है। बल्कि, उसकी चिं’ता मीटिओर, माइका जैसे मिसा’इलों से भी बढ़ी है। इसके अलावा पाकिस्तान भारत के एस-400 मिसाइल डिफेंस सिस्टम की खरीद से भी परे’शान है। पाकिस्तानी एयरफोर्स वर्तमान में अपने 124 जेएफ-17 फाइ’टर जेट पर ही निर्भर है। इसके अलावा उसके पास 40 से भी कम संख्या में एफ -16 और मिराज फाइ’टर जेट हैं।