पाकिस्तान: एक और हिंदू लड़की का धर्म परि’वर्तन, जब’रन निकाह, पी’ड़ित परिवार पर दर्ज हुआ के’स

New Delhi: पाकिस्तान के सिंध में एक और हिंदू लड़की (Pakistan Hindu Girl Conversion) का जब’रन धर्म परि’वर्तन करा दिया गया और फिर बड़ी उम्र के शख्स से शादी करा दी गई। यही नहीं, लड़की के परिवार के खि’लाफ ही के’स दर्ज करा दिया गया।

पाकिस्तान, खासकर सिंध प्रांत में निकाह कराने के लिए हिंदू लड़कियों का धर्म परि’वर्तन (Pakistan Hindu Girl Conversion) कराने के कई मामले सामने आते रहे हैं।

परिवार के खिलाफ शिकायत दर्ज

रिपोर्ट्स के मुताबिक सिंध के समारो की रहने वाली हिंदू युवती राम बाई को इस्लाम (Pakistan Hindu Girl Conversion) कबूल कराया गया और अब्दुल्लाह नाम के शख्स से शादी करा दी गई।

अब्दुल्लाह की पहले से शादी हो चुकी थी और उसके बच्चे राम बाई से भी बड़े हैं। जब राम बाई के परिवार ने अपनी बेटी लौटाने को कहा तो उनके खिला’फ मीरपुर की सत्र अदालत में केस द’र्ज कर दिया गया।

बड़ी संख्या में हिंदुओं का धर्म परि’वर्तन

इससे पहले पिछले महीने 12 साल की मोमल भील का क’ट्टर इस्लामी अति’वा’दियों ने धर्म परिव’र्तन कर निकाह कराने के इरादे से घर से अपह’रण कर लिया था। परिवार वालों ने जब पुलिस को सूचना दी तो उन्होंने ने भी कुछ नहीं किया।

जून के अंतिम हफ्ते में आई रिपोर्ट के अनुसार, सिंध प्रांत में बड़े स्तर पर हिंदुओं का धर्म परि’वर्तन कराकर उन्हें मुस्लिम बनाए जाने का मामला सामने आया था। सिंध के बादिन में 102 हिंदुओं को जब’रन इस्लाम कबूल कराया गया।

हर साल कि’ड’नैप की जाती हैं हजारों लड़कियां

मानवाधिकार संस्था मूवमेंट फॉर सॉलिडैरिटी एंड पीस (MSP) के अनुसार, पाकिस्तान में हर साल 1000 से ज्यादा ईसाई और हिंदू महिलाओं या लड़कियों का अ’पह’रण किया जाता है। जिसके बाद उनका धर्म परि’वर्तन करवा कर इस्लामिक रीति रिवाज से निकाह करवा दिया जाता है। पी’ड़ितों में ज्यादातर की उम्र 12 साल से 25 साल के बीच में होती है।

मानवाधिकार आयोग ने भी माना

गौरतलब है कि पाकिस्तान के सिंध और पाकिस्तान से अक्सर ही हिंदू और ईसाई समुदाय के लोगों पर अ’त्या’चा’र की खबरें आती रहती हैं। पाकिस्तान के मानवाधिकार आयोग ने भी इस साल कहा था कि अल्पसंख्यकों के ऊपर बहुत अ’त्याचा’र हुआ है और उनके हालात सुधारने के लिए उठाए गए कदम बेअसर रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *