14.1 C
New Delhi
Thursday, December 8, 2022

16 अक्टूबर से 17 नवंबर के बीच उत्तर कोरिया कर सकता है न्यूक्लियर टेस्ट : योनहाप न्यूज एजेंसी

सियोल। दक्षिण कोरिया की राष्ट्रीय जासूसी एजेंसी ने कहा है कि 2017 के बाद से उत्तर कोरिया का पहला परमाणु परीक्षण, अगर यह होता है, तो 16 अक्टूबर से 17 नवंबर के बीच आयोजित होने की संभावना है। योनहाप न्यूज एजेंसी ने बुधवार को यह सूचना दी।

अमेरिका पर सरकार गिराने का लगाया आरोप
बता दें, उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग-उन ने सार्वजनिक रूप से देश के परमाणु हथियारों को नहीं छोड़ने का दृढ़ संकल्प लिया है। हाल ही में, उन्होंने अमेरिका पर देश की सरकार को गिराने की कोशिश करने का आरोप लगाया। प्योंगयांग की कोरियन सेंट्रल न्यूज एजेंसी (केसीएनए) के अनुसार, किग जोंग-उन ने स्पष्ट किया कि, प्योंगयांग का परमाणु निरस्त्रीकरण के लिए बातचीत फिर से शुरू करने का कोई इरादा नहीं है। उत्तर कोरिया की संसद ने पहले ही एक महत्वपूर्ण सत्र के दौरान नई परमाणु नीति को मंजूरी दे दी थी।

‘उत्तर कोरिया को कमजोर करना चाहता है अमेरिका’
किम जोंग-उन ने कहा है कि अमेरिका का उद्देश्य न केवल हमारे परमाणु हथियारों को खत्म करना है, बल्कि उत्तर कोरिया को आत्मरक्षा करने की शक्ति को छोड़ने या कमजोर करने के लिए मजबूर कर हमारे शासन को गिराना है। किम ने यह भी कहा कि उत्तर कोरिया को अपने सामरिक परमाणु अभियान के दायरे का लगातार विस्तार करना चाहिए, ताकि अपने परमाणु युद्ध की क्षमता को मजबूत किया जा सके।

कमला हैरिस से नाराज है उत्तर कोरिया
हाल ही में, जापान के पूर्व प्रधानमंत्री शिंजो आबे के अंतिम संस्कार में अमेरिकी प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व करने आई कमला हैरिस ने जापान के पीएम किशिदा के साथ बातचीत की। इस दौरान उन्होंने उत्तर कोरिया के हालिया बैलिस्टिक मिसाइल परीक्षण के साथ-साथ उत्तर कोरिया द्वारा जापानी नागरिकों के अपहरण मुद्दे को हल करने पर भी जोर दिया। हालांकि, हैरिस की जापान यात्रा से उत्तर कोरिया काफी नाराज है।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

10,370FansLike
10,000FollowersFollow
1,120FollowersFollow

Latest Articles