यूक्रेन विमान हादसा : ईरान का बयान, गलती उसकी मिसाइल से मारा गया था विमान

‘मानवीय भूल’ के कारण उक्रेन का विमान गिराया गया : ईरानी सेना

ईरानी राष्ट्रपति हसन रूहानी ने यूक्रेनी विमान हादसे को अक्षम्य गलती बताया

तेहरान, 11 जनवरी (वेबवार्ता)। ईरान ने शनिवार को कहा कि गत सप्ताह दुर्घटनाग्रस्त हुये यूक्रेन के विमान को गलती से मार गिराया गया था क्योंकि वह रेवोल्यूशनरी गार्ड्स के संवेदनशील सैन्य ठिकाने के काफी करीब था। ईरानी सेना ने एक बयान जारी कर यह जानकारी दी है। बयान के अनुसार विमान को गिराने के लिए जिम्मेदार लोगों को सैन्य जांच के घेरे में लाया जायेगा और नतीजे के बाद उचित दंड दिया जायेगा। सेना ने इस दुर्घटना में मारे गये परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त की है।

बयान में कहा गया, “अमेरिका साथ तनाव चरम पर होने के कारण सेना हाई अलर्ट पर थी और जब विमान संवेदनशील सैन्य केन्द्र की ओर मुड़ा तो गलती से इसे ‘दुश्मन का लक्ष्य’ समझ लिया गया। इस स्थिति में गैरइरादतन विमान को गिरा दिया गया।” सेना ने इस हादसे के लिए माफी मांगते हुए कहा कि भविष्य में इस तरह की गलती नहीं हो इसके लिए तकनीक को और समृद्ध किया जायेगा। विदेश मंत्री मोहम्मद जावेद जारिफ ने इस हादसे के लिए माफी मांगते हुए ट्वीट किया, ‘अमेरिकी दुस्साहस’ के कारण यह आपदा हुई। हमें बहुत पछतावा है और हम अपने लोगों और इस हादसे में मारे गये लोगों के परिजनों से माफी मांगते हैं।”

कनाडा ने गुरुवार को कहा था कि उसके पास मौजूद खुफिया रिपोर्ट से पता चलता है कि विमान को ईरान ने ही मार गिराया है। इसके अलावा ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन और ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन ने भी विमान के दुर्घटनाग्रस्त होने का कारण संभवत: ईरान के जमीन से अनजाने में दागी गयी मिसाइल को बताया था। ईरान ने इन आरोपों को सिरे से खारिज किया था। ईरान के नागरिक विमानन संगठन (सीएओआई) प्रमुख अली आबेदजादेह ने शुक्रवार को कहा था,“ हाल ही में ईरान में दुर्घटनाग्रस्त हुआ यूक्रेन का विमान तकनीकी खराबी की वजह से गिरा था और पश्चिमी देशों का यह दावा गलत है कि वह हमारे मिसाइल हमले की चपेट में आकर नष्ट हुआ था।”

ईरानी राष्ट्रपति हसन रूहानी ने यूक्रेनी विमान हादसे को अक्षम्य गलती बताया

ईरानी राष्ट्रपति हसन रूहानी ने शनिवार को कहा कि उनके देश को यूक्रेनी विमान हादसे को लेकर ‘‘गहरा अफसोस’’ है। रुहानी ने इसे ‘‘एक बड़ी त्रासदी और अक्षम्य गलती’’ बताया। उन्होंने ट्विटर पर कहा, ‘‘सशस्त्र बलों की आंतरिक जांच में निष्कर्ष निकला है कि मानवीय त्रुटि के कारण दागी गई मिसाइलों के चलते यूक्रेनी विमान भयावह दुर्घटना का शिकार हो गया और 176 निर्दोष लोगों की मौत हो गई।’’ उन्होंने कहा, ‘‘इस बड़ी त्रासदी और अक्षम्य गलती की जांच जारी है।’’

ज़ेलेंस्की ने विमान दुर्घटना के बाद दूसरी बार ट्रूडो से बात की

यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोडिमिर ज़ेलेंस्की ने ईरान में यूक्रेन का विमान दुर्घटनाग्रस्त होने के बाद दूसरी बार कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो से बात की। श्री ज़ेलेंस्की ने ट्वीट कर कहा, “ईरान में विमान दुर्घटनाग्रस्त होने के बाद दूसरी बार श्री ट्रूडो से बात की। इस दुर्घटना के बारे में अटकलें नहीं लगानी चाहिए। यूक्रेन और कनाडा एक उद्देश्य और व्यापक जांच की वकालत करने के लिए सभी संभव साधनों का उपयोग करेंगे।” राष्ट्रपति कार्यालय के अनुसार दोनों पक्ष विमान दुर्घटना के बारे में अटकलों को कम करने की आवश्यकता पर सहमत हुए। गौरतलब है कि गत बुधवार को यूक्रेन का विमान बोईंग 737-800 ईरान के तेहरान में उड़ान भरने के कुछ मिनटों बाद ही दुर्घटना का शिकार हो गया था। इस हादसे में चालक दल के सदस्य सहित सभी 176 यात्रियों की मौत हो गयी थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *