Donald Trump Impeachment: डोनाल्ड ट्रंप को बड़ी राहत, हिंसा भड़काने के आरोप से हुए बरी

Webvarta Desk: Donald Trump Impeachment: अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (US Ex President Donald Trump) को एक ऐतिहासिक जीत मिल गई है। अमेरिकी सीनेट में महाभियोग के प्रस्ताव पर चर्चा के बाद ट्रंप को 6 जनवरी 2021 के दिन वॉशिंगटन के कैपिटल हिल में हुई हिंसा के मामले में बरी कर दिया गया है। इससे पहले पांचवे रोज की सुनवाई के बाद वोटिंग कराई गई।

वोटिंग की इस प्रक्रिया के दौरान ट्रंप (Donald Trump Impeachment) के पक्ष में 43 वोट पड़े, वहीं उनके खिलाफ 57 सीनेटर्स ने वोटिंग की। इस तरह ट्रंप को दोषी बनाने के लिए जरूरी दो तिहाई वोट नहीं मिल सके। इसके बाद ट्रंप कैपिटल हिल्स में हुई हिंसा के मामेल में बरी हो गए।

दूसरी बार महाभियोग (Donald Trump Impeachment) का सामना कर रहे अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के वकीलों ने सीनेट में साक्ष्य प्रस्तुत करते हुए कहा है कि उन पर हिंसा भड़काने का जो आरोप लगाया गया है, वह एक ‘बहुत बड़ा झूठ’ है। बीबीसी की रिपोर्ट के मुताबिक, वकील माइकल वैन डेर वीन ने कहा कि डोनाल्ड ट्रंप के खिलाफ डेमोक्रेट सांसदों की ओर से शुरू की गई महाभियोग की कार्यवाही राजनीति से प्रेरित है।

6 जनवरी को हुई थी हिंसा

ट्रंप पर आरोप लगे थे कि उन्होंने 6 जनवरी को अमेरिकी संसद भवन (कैपिटल) में दंगे करवाए थे, जिसमें पांच लोगों की मौत हो गई थी। हालांकि उन्होंने इस आरोप से इनकार किया। इस दौरान अधिकांश रिपब्लिकन सांसदों ने संकेत दिया है कि वे ट्रंप को दोषी ठहराने के लिए मतदान नहीं करेंगे। बचाव पक्ष ने महाभियोग सुनवाई के त्वरित समापन के लिए चार घंटे से भी कम का समय लिया।

ऑडियो-वीडियो सबूतों की हुई जांच

इसके बाद दोनों पक्षों के प्रश्न पूछने के लिए सीनेटरों को चार घंटे का समय दिया गया। इससे पहले सीनेटरों ने संसद में दो दिनों तक बैठक की जिसमें वीडियो और ऑडियो फुटेज खंगाली गई। डेमोक्रेटिक अभियोजकों ने यह दिखाने की कोशिश की कि ट्रंप का रवैया हिंसा भड़काने का रहता है। उन्होंने दंगा रोकने के लिए कुछ भी नहीं किया और न ही उन्होंने कोई खेद व्यक्त किया, और न ही उन्होंने कोई खेद व्यक्त किया।