Friday, May 20, 2022
Homeअंतर्राष्ट्रीयCovid Cases in China : कोरोना के कहर से जूझ रहे लोगों...

Covid Cases in China : कोरोना के कहर से जूझ रहे लोगों को पटक-पटक कर पीट रहा चीन

बीजिंग: चीन की तमाम कोशिशों के बावजूद कोरोना का कहर (Covid Cases in China) रुकने का नाम नहीं ले रहा। शंघाई, राजधानी बीजिंग समेत सभी प्रमुख शहरों में लोगों की कड़ी निगरानी (Covid Restrictions in Shanghai) की जा रही है। हालात यहां तक पहुंच गए हैं कि चीन का कम्युनिस्ट प्रशासन अपने ही नागरिकों को सरेआम पीट (People Beaten in China) रहा है। इस घटना के कई वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं, जिसमें पीपीई किट पहने चीनी स्वास्थ्य कार्यकर्ता आम लोगों की पिटाई करते नजर आ रहे हैं। इससे पता चल रहा है कि अपनी जीरो कोविड पॉलिसी को लेकर चीन किस हद तक उतर सकता है। वर्तमान में चीन के 27 शहरों में लॉकडाउन लगा हुआ है। इन शहरों में रहने वाली 16.5 करोड़ की आबादी अपने-अपने घरों में कैद है। इनमें सबसे बुरी स्थिति चीन की आर्थिक राजधानी शंघाई और राजधानी बीजिंग की है। इन्हीं दोनों शहरों में लोगों के साथ मारपीट की जा रही है।

लोगों की सरेआम पिटाई कर रहे चीनी स्वास्थ्यकर्मी
सोशल मीडिया पर कई लीक हुए वीडियो में राष्ट्रपति शी जिनपिंग के सफेद पीपीई किट पहने स्वास्थ्य कार्यकर्ता लोगों को पीटते, सड़क पर घसीटते और दरवाजों को वेल्डिंग कर जाम करते दिखाई दे रहे हैं। इसके अलावा हर शहर में बड़े पैमाने पर क्वारंटीन सेंटर भी बनाए गए हैं, जहां हजारों लोगों को जबरन कैद करके रखा गया है। चीन के महामारी को रोकने के कठोर कानूनों के कारण आम लोगों को काफी परेशानी हो रही है। इसके बावजूद चीन अपने नागरिकों को बिलकुल भी छूट देने के मूड में नहीं है। लॉकडाउन के दौरान चीनी सरकार सर्विलांस के लिए रोबोटिक कुत्ते और ड्रोन का इस्तेमाल कर रही है।

जीरो कोविड पॉलिसी के तहत जुल्म ढा रहा चीन
महामारी को रोकने के लिए चीन अपनी जीरो कोविड पॉलिसी पर अड़ा हुआ है। इसके तहत वायरस को रोकने के लिए लॉकडाउन, मास टेस्टिंग, क्वारंटीन और सीमाएं बंद करने जैसे कठोर कदम उठाए जा रहे हैं। लेकिन अत्यधिक संक्रामक ओमीक्रोन वेरिएंट के कारण तेजी से बढ़ते मामलों ने चीन की इस पॉलिसी पर ही सवालिया निशान लगा दिए हैं। कोरोना वायरस तेजी से चीन के अलग-अलग प्रांत और शहरों में फैलता जा रहा है। ऐसे में चीन की जीरो कोविड पॉलिसी के कड़े प्रतिबंधों का असर दिखाई नहीं दे रहा। वहीं, इन प्रतिबंधों के कारण लोग भूखों मरने को मजबूर हैं।

रोबोटिक कुत्ते, ड्रोन, हेलीकॉप्टर से की जा रही निगरानी
चीन के शहरों में लोगों की निगरानी के लिए रोबोटिक कुत्ते, ड्रोन और हेलीकॉप्टर की मदद ली जा रही है। अगर किसी जगह पर एक से ज्यादा लोग इकट्ठा हो रहे हैं तो उन्हें इन मशीनों के जरिए चेतावनी दी जा रही है। इतना ही नहीं, कानून व्यवस्था को बनाए रखने के लिए हेलीकॉप्टर से पुलिसकर्मियों को उतारा जा रहा है। पकड़े जा रहे लोगों के सुरक्षाकर्मी बर्बर तरीके से मारपीट कर रहे हैं। इस दौरान कई लोगों को चोटें भी लगी है, लेकिन कम्युनिस्ट शासन में इन अत्याचारों की कोई सुनवाई नहीं हो रही है। यहां तक की अस्पतालों में कोविड का हवाला देकर इलाज करने से इनकार किया जा रहा है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

आप हमें फॉलो भी कर सकते है

10,445FansLike
10,000FollowersFollow
3,000FollowersFollow
10,000FollowersFollow
2,458FollowersFollow
5,000SubscribersSubscribe

यह भी पढ़ें

Recent Comments